किताबों की जगह छात्रों को थमा दी कुल्हाड़ी, वीडियो वायरल होते ही प्रधानाचार्य पर हुई बड़ी कार्रवाई…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

भीमताल। ओखलकांडा ब्लॉक के हाईस्कूल कैड़ागांव के प्रधानाचार्य को बच्चों से काम कराना महंगा पड़ा। सोशल मीडिया पर छात्रों से बच्चों से जंगल में लकड़ी काटने की वीडियो वायरल होने का मामला सामने आया है। जिस पर वीडियो का संज्ञान लेते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी ने संबंधित विद्यालय के प्रधानाचार्य को वहां से हटा दिया। उन्होंने उन्हें तत्काल तल्ली पोखरी से संबद्ध कर दिया है। साथ ही मामले में स्पष्टीकरण भी मांगा है।

यह भी पढ़ें -   केएमवीएन मुनाफे में, 08 करोड़ से ज्यादा का हुआ लाभ तो कार्मिकों को दी ये सौगात...

मुख्य शिक्षाधिकारी केएस रावत ने बताया कि हाईस्कूल कैड़ागांव के बच्चों से जंगल में लकड़ी काटने की वीडियो वायरल हुई है। जिसमें बच्चे स्कूल की ड्रेस में जंगल में लकड़ी काटते दिख रहे हैं। इस संबंध में वहां के प्रधानाचार्य से स्पष्टीकरण मांगा है और उन्हें तत्काल हटाकर पोखरी में संबद्ध कर दिया। वहीं, क्षेत्र के अभिभावकों में इसको लेकर नाराजगी है। क्षेत्र के पूर्व प्रधान मदन नौलिया ने का कहना है कि शिक्षकों द्वारा बच्चों से कार्य कराया जाना ठीक नहीं है। अभिभावक स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के लिए भेजते हैं। साथ ही अधिकारियों से शिक्षकों की तैनाती व स्कूल का उच्चीकरण करने की भी मांग की है। सीईओ ने बताया कि एलटी शिक्षकों की तैनाती का अधिकार अपर निदेशक को है, जिसके लिए उन्हें उक्त विद्यालय में शिक्षकों की तैनाती करने की संस्तुति भेज दी है।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल: सूरज को चारों ओर से अनोखी चमक ने घेरा, कैमरे में कैद हुआ यह हैलो इफैक्ट
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments