लोक चित्रकला के प्रचार-प्रसार में जुटी भीमताल की पूजा पडियार पहुंची देश की राजधानी, कुमाऊं की संस्कृति से लोगों को कराया रूबरू…

भीमताल निवासी पूजा पडियार अपनी लोक संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर…

विलुप्त होती परंपरा को दर्शाता भीमताल में बना ‘बखई का ढांचा’

पहाड़ में घर पारंपरिक शैली के बनाए जाते रहे हैं. इन घरों के निर्माण में पत्थरों…

इस बार करवा चौथ के दिन अस्त हो रहा शुक्र, नव विवाहिताओं को रखना होगा ध्यान

इस बार सुहाग का पर्व करवा चौथ को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। हिंदू…

पांच वक्त की नमाज पढ़ने वाले नासिर और अनवर भी राम के आदर्शों को मानते हैं प्रेरणा…

नैनीताल। सरोवर नगरी में इन दिनों रामलीला का मंचन चल रहा है। यहां कई ऐसे मुस्लिम…

चमोली के इस इलाके में रावण को माना जाता है पूजनीय, आज भी रामलीला मंचन की शुरुआत रावण के तप से ही होती है…

बदरीनाथ धाम के पुराने तीर्थमार्ग पर स्थित है। यहीं से 10 किलोमीटर दूर स्थित है बैरास…

वेस्ट फूल-पत्तियों-सब्जियों से डिजाइनर कपड़े तैयार कर रहीं पहाड़ की चेलियां…

नैनीताल। सरोवर नगरी की चेली आर्ट्स संस्था पहाड़ी उत्पादों और कुमाऊंनी संस्कृति को आगे बढ़ाने के…

सरोवर नगरी में रच-बस गया बंगाल का दुर्गा पूजा महोत्सव, सबसे पहले वर्ष 1956 में घट स्थापना कर मनाया गया था…

नैनीताल। सरोवर नगरी नैनीताल में सर्ब जनिन दुर्गा पूजा कमेटी के तत्वावधान में इस बार 66वां…

यूनेस्को वर्ल्ड कल्चरल हेरिटेज में शामिल है कुमाऊं की रामलीला, ये है विशेषता…

शहरी चकाचौंध से दूर, पहाड़ की शांत वादियां। छोटे होते दिनों में आजकल पता ही नहीं…

उत्तराखंड में अल्मोड़ा में हुई थी सबसे पहले रामलीला, पेट्रोमैक्स और चीड़ के छिलके जलाकर होता था मंचन

बरसात बीत गई है। गांवों में मवेशियों के लिए चारे के लिए घास काटकर सुखाने की…

मां पूर्णागिरी : 52 शक्तिपीठों में से एक इस मंदिर में 1632 संवत् से शुरू हुई थी पूजा अर्चना, हर साल नवरात्र पर लगता है मेला…..

हिंदू धर्म में श्राद्ध खत्म होने के बाद से ही नवरात्र शुरू हो जाते हैं। शारदीय…