यहाँ कलयुगी माँ ने बेच दी अपनी नाबालिक बेटियां , पुलिस ने दो दलालों समेत ,पांच लोगो को किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

प्रदेश में मानव तस्करी जैसे संगीन अपराध के मामले लगातार बढ़ रहे है। खासकर पहाड़ों से बेटियों की मानव तस्करी के मामले सामने आते रहते है। ताजा मामला पिथौरागढ़ का है जहां पुलिस को मानव तस्करी की खबर मिलने के बाद पुलिस ने तत्काल एक्शन लिया को सनसनीखेज मामले का खुलासा हुआ। मानव तस्करी के मामले लगातार बढ़ रहे है। खासकर पहाड़ों से बेटियों की मानव तस्करी के मामले सामने आते रहते है। अब पिथौरागढ़ में मानव तस्करी का मामला सामने आया। ऐंचोली चौकी प्र्रभारी प्रकाश पाण्डेय को सूचना मिली कि एक वाहन स्कोर्पियों में कुछ लोग दो छोटी लड़कियों को खरीदकर बेचने जा रहे हैं। इसकी सूचना प्रकाश पाण्डेय द्वारा प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पिथौरागढ़ को दी गई। सूचना मिलते ही प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पिथौरागढ़ प्रभात कुमार पुलिस टीम के साथ रवाना होकर ऐंचोली चौकी पर पहुँचे।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड :- यहां फैक्ट्री में लगी भीषण आग, कर्मचारियों ने भाग कर बचाई अपनी जान

इसके बाद पुलिस ने बैरिकेटिंग कर दी। जैसे ही स्कॉर्पियों नम्बर यूके03बी-5353 पहुंची तो पुलिस ने उसकी तलाशी ली गयी तो उसके अन्दर दो छोटी बालिकाएं पिछली सीट पर डरी सहमी बैठी हुई थी। उनके अलावा गाड़ी में ड्राइवर के बगल में एक व्यक्ति तथा बीच की सीट में तीन व्यक्ति बैठे हुए थे। पुलिस ने सभी को बाहर उतरने को कहा। इसके बाद चालक से पूछताछ में उसने अपना नाम सनी सिंह पुत्र सतपाल सिंह निवासी. वार्ड नं0. 05 मौना बाजार बनबसा जिला चम्पावत बताया। दूसरे ने अपना नाम चन्द्रप्रकाश उर्फ चन्दू पुत्र स्व. जगत राम निवासी. ग्राम चिंगरी पोस्ट सल्ला चिंगरी पट्टी सल्ला जिला पिथौरागढ़ जबकि पीछे बैठे व्यक्तियों ने अपना नाम राहुल यादव पुत्र प्रकाश यादव निवासी मकान नं-28 अहिरवस्ती नगलीतर्क वायडा थाना काडूमर जिला अलवर राजस्थान , दीपू राम सुनार पुत्र गोपाल राम सुनार निवासी ग्राम तल्लीदेह थाना तल्लीदेह जिला बैतड़ी नेपाल हाल दौला पिथौरागढ़ व उसके बगल में बैठे व्यक्ति ने अपना नाम तुलसी उर्फ तुलसी चौधरी पुत्र होती सिंह निवासी. ग्राम कैलूरी पोस्ट रोनिजा तहसील नदवई थाना नदवई जिला भरतपुर राजस्थान बताया।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड :- धामी सरकार ने हल्द्वानी समेत राज्य के सरकारी डिग्री कॉलेजों में पद सृजित करने के लिए दी मंन्ज़ूरी

जब महिला उनि प्रियंका मौनी व कानि कविता मेहता द्वारा स्कोर्पियो के पिछली सीट पर बैठी हुई दोनों बालिकाओं से मौके पर पूछताछ की गयी तो उन्होंने रोते हए बताया कि सामने खड़े दीपू अंकल और उनकी मां ने हम दोनों को जबरदस्ती राहुल यादव से शादी करने के लिए बेच दिया है। दीपू अंकल और मेरी माँ ने चन्दू से रुपये लेकर हमें जबरदस्ती मना करने के बाद भी इनके साथ शादी करने के लिए भेजा है। इसके बाद पूरा घटनाक्रम का खुलासा हो गया। मौके पर रोके गये व्यक्तियों से पूछताछ की गयी तो उनके द्वारा दोनों नाबालिग लड़कियों का सौदा किये जाने की बात कबूली, दोनों लड़कियों को राजस्थान में बेचने के इरादेे से ले जा रहे थे। पुलिस ने उनके कब्जे से दलाली के रुप में प्राप्त एक लाख सात हजार रुपये बरामद किये। जिसकेे बाद उनके खिलाफ आगेे की कार्यवाही शुरू की जा रही है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड की बेटियों ने रचा इतिहास, अंडर-19 महिला टीम वनडे टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

हमारे इस नंबर 9368692224 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

👉 Hills Mirror के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 Hills Mirror के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 Hills Mirror से Telegram पर जुड़ें

👉 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments