उत्तराखंड :- यहां गुमशुदा हुए युवक का मिला कंकाल, पुलिस जांच में खुला राज

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हल्द्वानी- जंगल में लकड़ी बीनने वाले लोगों ने यदि बियाबान जंगल में नर कंकाल नहीं देखा होता तो बिंदुखत्ता में आए 4 साल पहले युवक की गुमशुदगी का राज नहीं खुल पाता, लेकिन पुलिस की जांच पड़ताल में युवक की गुमशुदगी का राज खुला, घटना क्रम के अनुसार रविवार को रामपुर रोड स्थित टांडा जंगल में लकड़ी बीनने वाले ग्रामीणों ने कंकाल मिलने की सूचना पुलिस को दी, सूचना पर पुलिस मौके पर पहुची पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद कंकाल के पास मिले आधार कार्ड के अनुसार शव की शिनाख्त बागेश्वर निवासी हरीश चंद्र जोशी के रूप में की । बताया जा रहा है कि कंकाल चार वर्ष पुराना है।ट्रांसपोर्ट नगर चौकी इंचार्ज मनोज कुमार ने फॉरेंसिक टीम के साथ मौके देखा तो कंकाल में खोपड़ी के साथ में कुछ हड्डियां पड़ी थीं। मौके पर पुलिस को एक आधार कार्ड मिला। आधार कार्ड में हरीश चंद्र जोशी निवासी (42) बागेश्वर लिखा हुआ था। इस पर टीपी नगर चौकी इंचार्ज मनोज कुमार ने बताया कि जानकारी जुटाने पर पता चला कि हरीश चंद्र चार साल पहले बिंदुखत्ता अपनी बहन के घर आया था और लापता हो गया। बताया कि इसकी गुमशुदगी लालकुआं कोतवाली में भी दर्ज है। कंकाल मिलने की सूचना उसके परिजनों को दे दी गई है।

यह भी पढ़ें -   कहीं यह बरसात फिर कोई आफत बनकर न बरसे...
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments