उत्तराखंड :- यहां विवाहिता की संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत, पिता ने लगाया हत्‍या का आरोप

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

रुदप्रयाग। बसुकेदार तहसील के मूनासू गांव में विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला सामने आया है। मृतका के पिता ने ससुराल पक्ष पर पहले विवाहिता के साथ मारपीट कर उसके बाद बेटी का गला घोटकर हत्या करने का आरोप लगाया है।
उसके बाद कानून से बचने के लिए फांसी पर लटका दिया। उन्होंने पूरे परिवार के खिलाफ राजस्व पुलिस को तहरीर देकर आवश्यक कार्रवाई की मांग की है।

थाना अगस्त्यमुनि के अन्तर्गत ग्राम मूनासू निवाली योगेंद्र टम्टा की बेटी विजय भारती का विवाह करीब एक वर्ष पूर्व ग्राम चंद्रापुरी निवासी पेशे से सरकारी शिक्षक शिव लाल आर्य के पुत्र सुभाष चंद्र के साथ हुआ था। मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले योगेंद्र टम्टा ने अपनी हैसियत के मुताबिक खर्चकर अपनी बेटी को कई उम्मीदों के साथ घर से ससुराल विदा किया। योगेंद्र टम्टा के मुताबिक बीते छह माह से ससुराल पक्ष की ओर से उनकी बेटी से सात लाख रुपये की दहेज की मांग की जा रही थी, लेकिन बेटी का भविष्य देखते हुए उन्होंने इसकी शिकायत नहीं की। उन्होंने बताया कि बीते रोज गत शुक्रवार को वह एक सगाई में सम्मलित होने जाखाल गए थे और उनकी बेटी उन्हें सुबह सात बजे से 11 बजे तक फोन करती रही। उसने बताया कि उसके ससुराली उसके साथ लगातार मारपीट कर रहे हैं, जिसके बाद योगेंद्र टम्टा ने उसे दोपहर तक ससुराल में पहुंचने का आश्वासन दिया, लेकिन उससे पहले ही उन्हें ससुरालियों ने सूचना दी कि उनकी बेटी ने फांसी लगा दी है। जिसके बाद मौके पर पहुंचने पर उन्होंने देखा कि उनकी बेटी फांसी पर लटकी हुई है। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थितियों में बेटी खुद न तो फांसी लगा सकती है, और न ही मौके पर फांसी लगाने की स्थितियां हैं।योगेंद्र टम्टा ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को ससुरालियों ने गला घोटकर मारा है और फिर फांसी पर लटका दिया। पूरे मामले में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया है। मामले में अब पुलिस की ओर से जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें -   कहीं यह बरसात फिर कोई आफत बनकर न बरसे...
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments