उत्तराखंड :- प्रदेश में बढ़ते साइबर क्राइम को रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने ठोस रणनीति बनाने के दिए निर्देश

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

प्रदेश में साइबर अपराध के बढ़ते मामलों को देखते हुए दैनिक जागरण की ओर से अभियान चलाए जाने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी इस दिशा में गंभीर हो गए हैंमुख्यमंत्री ने इस पर चिंता जताते हुए पुलिस अधिकारियों को साइबर अपराधियों से निपटने के लिए ठोस रणनीति बनाने का निर्देश दिया है। वह गुरुवार को पुलिस मुख्यालय में विभाग की समीक्षा बैठक ले रहे थे। बैठक में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने मुख्यमंत्री को बताया कि साइबर क्राइम पर नकेल कसने के लिए मुख्यालय की ओर से अल्मोड़ा, श्रीनगर और टनकपुर में साइबर पुलिस चौकी खोलने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रस्ताव पर जल्द विचार किया जाएगा।समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने दो मोबाइल एप ‘मिशन गौरा शक्ति’ और ‘पब्लिक आई’ की शुरुआत भी की। मुख्यमंत्री ने बताया कि मिशन गौरा शक्ति एप महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस विभाग ने तैयार किया है। इसकी मदद से महिलाओं को आपात स्थिति में पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए महिलाओं को गूगल प्लेस्टोर से यह एप अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड करना होगा और आपात स्थिति में एप में दिए लाल बटन को टच करना होगा। इससे आपातकालीन नंबर 112 के कंट्रोल रूम में शिकायतकर्ता का नाम, मोबाइल नंबर और लोकेशन पहुंच जाएंगे। वहां से नजदीकी थाना-चौकी को सूचना देकर पुलिस को महिला की सहायता के लिए भेजा जाएगा। इस एप में आनलाइन शिकायत करने, 112 पर फोन करने, शिकायत का स्टेट्स जानने और निकटतम पुलिस थाना का नंबर प्राप्त करने का विकल्प भी है।

यह भी पढ़ें -   चोपड़ा के वचनढूंगा में वायरक्रेट से प्लेटफार्म बनाने का कार्य अटका, पैसे तो मिल गए लेकिन नहीं मिल रहे ठेकेदार...

वहीं, पब्लिक आई एप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति पुलिस को अपने या किसी अन्य व्यक्ति के साथ हुए साइबर अपराध की जानकारी के साथ आसपास होने वाली आपराधिक घटनाओं का फोटो या वीडियो भेज सकता है। इस शिकायत पर हुई कार्रवाई की प्रगति भी एप के माध्यम से पता चल जाएगी।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments