अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य की फैक्टरी में दूसरी बार लगी आग…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

ऋषिकेशअंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी और पूर्व भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य की गंगा भोगपुर स्थित स्वदेशी ऑर्गेनिक फैक्टरी में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। सूचना पर लक्ष्मणझूला और ऋषिकेश फायर स्टेशन से तीन दमकल वाहन आग बुझाने के लिए फैक्टरी पहुंचे। करीब 3 घंटे 27 मिनट की मशक्कत के बाद दमकल कर्मी आग पर काबू पाने में कामयाब हुए। आगजनी के दौरान फैक्टरी में रखा लाखों का सामान बर्बाद हो गया।

वनंतरा रिजॉर्ट के पीछे पुलकित आर्य की स्वदेशी ऑर्गेनिक नाम की फैक्टरी है। फैक्टरी में आंवला, बेल कैंडी और जूस का तैयार किया जाता है। अंकिता हत्याकांड के बाद रिजॉर्ट में तोड़फोड़ और फैक्टरी में पहली बार आग लगने के बाद प्रशासन ने दोनों को सील कर दिया था। सुरक्षा के मद्देनजर रिजॉर्ट और फैक्टरी के बाहर एक कंपनी पीएसी भी तैनात की गई थी। रविवार सुबह पीएसी के जवानों ने फैक्टरी से धुआं और आग की लपटे उठती देखी। हालांकि अभी आग के स्पष्ट कारणों का अभी पता नहीं लगा है माना जा रहा है कि शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी है।

यह भी पढ़ें -   कुमाऊँ मंडल विकास निगम के 32 कर्मियों की हुई पदोन्नति

पीएसी जवानों ने फैक्टरी में आग लगने की सूचना लक्ष्मणझूला थाना पुलिस को दी। सूचना पर एक छोटा दमकल वाहन फैक्टरी में आग बुझाने के लिए भेजा गया। करीब 25 मिनट बाद दमकल वाहन और लक्ष्मणझूला थाना प्रभारी विनोद सिंह गुसाईं पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। दमकल कर्मियों ने आग बुझाना शुरू कर दिया। लेकिन तब तक फैक्टरी से आपकी बड़ी बड़ी लपटें उठने लगी थी। फैक्टरी से काले धुएं का भयंकर गुबार उठ रहा था।

यह भी पढ़ें -   नाबालिग बाइक सवार की तेज रफ्तार ने ले ली स्कूटी सवार की जान... शादी के लिए शॉपिंग करने जा रहा था नैनीताल।

इसके बाद लक्ष्मणझूला थाना पुलिस ने ऋषिकेश फायर स्टेशन को आग बुझाने के लिए एक बड़ा दमकल वाहन फैक्टरी भेजने के लिए कहा। करीब आधे घंटे बाद एक बड़ा दमकल वाहन मौके पर पहुंचा। इसके बाद धीरे-धीरे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाना शुरू कर दिया। लेकिन एहतियात के लिए थाना प्रभारी ने ऋषिकेश फायर स्टेशन से एक और बड़े दमकल वाहन को बुलवा लिया। दूसरा वाहन भी 31 मिनट में मौके पर पहुंच गया।

यह भी पढ़ें -   चाफी में अंग्रेजों द्वारा बनाया ये 'झूला पुल' सवा सौ साल है पुराना... बेहतरीन गुणवत्ता के कारण आज भी जस का तस।

दोपहर 1:47 पर करीब साढ़े तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। थाना प्रभारी विनोद सिंह गुसाईं ने बताया कि रिजॉर्ट और फैक्टरी का विद्युत कनेक्शन सीलिंग के दिन ही काट दिया गया था। लेकिन फैक्टरी के भूतल पर रखे इनवर्टर बैटरी से फैक्टरी के अंदर की सप्लाई नहीं काटी गई थी। उन्होंने बताया कि सुबह एक विद्युत कर्मी ने सप्लाई के तार को काटा। उनका कहना है कि प्रथम दृष्टया से पुलिस मान रही है कि इनवर्टर बैटरी की सप्लाई से हुए शॉर्ट सर्किट से फैक्टरी में आग लगी होगी। हालांकि आग लगने के स्पष्ट कारणों की जांच की जा रही है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments