किरायेदार ने मकान मालिक के पांच वर्षीय बेटे को उतारा मौत के घाट

बरेली। बहेड़ी में किरायेदार ने मकान मालिक के पांच वर्षीय मासूम पुत्र की गला दबाकर हत्या कर दी। युवक ने उसका शव गन्ने के खेत में फेंक दिया। हत्यारोपी रातभर बच्चे के परिजनों को साथ लेकर बच्चे की तलाश कराता रहा। बाद में महिलाओं ने गन्ने के खेत में लाश देखी तब परिजनों और पुलिस को सूचना मिली। एसपी देहात और सीओ सहित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। फील्ड यूनिट और डॉग स्क्वायड ने जांच की। बच्चे की हत्या क्यों की गई, इसका खुलासा अभी नहीं हो सका है।


उत्तराखण्ड बॉर्डर से सटे गांव भिलौर (भंगा) गांव में रंजीत के मकान में उत्तराखंड के किच्छा का राजू अपनी पत्नी और बच्चों सहित किराये पर रहकर पिकअप चलाता है। बुधवार शाम करीब साढ़े 5 बजे रंजीत का पांच वर्षीय पुत्र राज लापता हो गया। इस पर परिजनों ने सिरसा चौकी में सूचना देकर बच्चे की तलाश शुरू की। परिजनों के साथ किरायेदार राजू भी बच्चे की तलाश करने लगा। इसी बीच राज के साथी नक्क्ष से पता चला कि शाम के वक्त राजू ने राज को पिकअप में बैठाया था और जब नक्क्ष पिकअप में बैठने लगा तो राजू ने उसे उतार दिया था।


आरोपी राजू रातभर परिजनों के साथ बच्चे की तलाश में जुटा रहा। बच्चा मिल जाए इसके लिए वह राजू पर शक तो कर रहे थे लेकिन उन्होंने उससे सख्ती नहीं की। सुबह होने पर राजू ने घर वालों से बच्चे को 50 हजार रुपये में बेचने की बात कही। इसपर बच्चे के परिजनों ने राजू से कहा कि वह 50 हजार रुपये उनसे ले ले लेकिन उनके बच्चे को वापस कर दे। बच्चों को लाने के लिए राजू ने खर्च के लिए पांच हजार रुपए मांगे। इस पर उन्होंने किरायेदार को पांच हजार रुपए दे दिए।


पैसे लेने के बाद राजू वहां से धौराटांडा फरार हो गया। इस दौरान परिजनों को राजू ने बताया कि बच्चा ठीक है और वह उसको लेने अटामांडा आ जाएं जब परिजन बच्चे को लेने अटामांडा पहुंचे तो राजू ने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया। इस पर परिजन बच्चे की गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए थाने पहुंच गए। थाने के कार्यालय में उनसे प्रार्थना-पत्र लिखने के लिए कहा। जब वह प्रार्थना-पत्र लिखवाने के लिए जा रहे थे तो इसी बीच खबर आई कि राज की लाश गांव से करीब दो किलोमीटर दूर गन्ने के खेत में पड़ी है। लाश मिलने की सूचना पर परिजन सहित एसपी देहात संसार सिंह, सीओ रामानंद राय, कोतवाल पंकज पंत फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। फील्ड यूनिट और डॉग स्वाइड की टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर जांच पड़ताल की।

एसपी देहात और सीओ ने ग्रामीणों से काफी देर तक पूछताछ की लेकिन बच्चे की हत्या क्यों की गई इसका पता नही लग सका। पुलिस इस मामले में छानबीन कर रही है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर किरायेदार की पत्नी और बच्चे को थाने में बैठा लिया है। बच्चो की मौत के बाद पिता रंजीत, मां सुनीता और भाई कपिल का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।


किरायेदार की पत्नी से पूछताछ कर जानकारी जुटाई जा रही है। अभी तक बच्चे की हत्या करने का कारण सामने नही आया है। टीम लगाकर बच्चे की हत्या की वजह का पता लगाया जा रहा है।

Avatar

hillsmirror

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
Don`t copy text!