उद्यान विभाग के भ्रष्टाचार के पौधे को उखाड़ने की लड़ाई पर आमरण अनशन पर बैठे रानीखेत के सामाजिक कार्यकर्ता दीपक करगेती

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

उद्यान व खाद्य संस्करण विभाग के भ्रष्टाचार के खिलाफ देहरादून गांधी पार्क के बाहर सामाजिक कार्यकर्ता दीपक करगेती पिछले चार दिन से आमरण अनशन कर रहे हैं। उद्यान विभाग में आरटीआई के माध्यम से व्याप्त भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता दीपक करगेती ने विभाग के खिलाफ उनका उत्पीड़न करने को लेकर और अभी तक भ्रष्टाचारों पर शासन द्वारा जांच के आदेश ना होने के कारण आंदोलन शुरू कर दिया है। सामाजिक कार्यकर्ता दीपक ने उन्हें उद्यान निदेशक के झूठे मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें -   कनालीछीना में शराब के नशे में धुत पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल, स्थानीय लोगों ने महिला से छेड़छाड़ का लगाया आरोप...(वीडियो)


सामाजिक कार्यकर्ता दीपक करगेती का आरोप है कि हिमाचल प्रदेश से प्रतिनियुक्ति पर आए उद्यान निदेशक के कार्यकाल में उद्यान विभाग में व्यापक भ्रष्टाचार हुआ । उन्होंने कहा कि आरटीआई में विभाग में कई स्तर पर भ्रष्टाचार सामने आया है। इस मामले की शिकायत उनकी तरफ से मुख्यमंत्री,कृषि एवं उद्यान मंत्री , विजिलेंस,मुख्य सचिव तक की गई है। इसके प्रधानमंत्री तक को पत्र भेज कर मामले की जांच कराने की मांग की है उन्होंने आरोप लगाया कि अब उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। उनके खिलाफ षड्यंत्र किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में काम को टालने वाले और “नो” कहने वाले अफसरों को ले लेना चाहिए रिटायरमेंट

वह अप्रैल माह से उद्यान विभाग में निदेशक के भ्रष्टाचारों पर आवाज उठा रहे हैं। लगातार ज्ञापन भेजे कर सीएम को भी इससे अवगत कराया गया।

लेकिन इसके बाद भी जांच नहीं कराई गयी। बल्कि जब उनके द्वारा इस संबंध में उद्यान विभाग में सूचना के अधिकार के तहत सवालों के जवाब मांगे गए तो उन पर अब महिला उत्पीडन का झूठा मुकदमा बनाया जा रहा है। साथ ही नशे में होने का आरोप लगाया गया।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल के कृष्णापुर निवासी लापता युवक का शव खाई में मिला...

अब दीपक उद्यान विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के इस पौधे को उखाड़ने के आमरण अनशन कर रहे हैं।उनका कहना है कि “मैं अनशन पर ही देह त्याग दूंगा, लेकिन निष्पक्ष जांच के आदेश तक ,भ्रष्टाचार में लिप्त निदेशक डॉ. हरमिंदर सिंह बवेजा के भ्रष्टाचारों की जांच के आदेश होने तक, आमरण अनशन रखूंगा। “

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments