पूर्व दर्जाधारी मंत्री हेमन्त द्विवेदी को मिली राहत,फर्जी मुकदमें को खारिज कर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के षणयंत्र को दिखाया आईना

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

तराई बीज निगम उत्तराखंड के पूर्व अध्यक्ष तथा पूर्व प्रदेश मंत्री भारतीय जनता पार्टी के श्री हेमंत द्विवेदी पर 4 मार्च 2018 को पुलिस द्वारा लगाए गए फर्जी मुकदमे को आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। इस घटना ने साबित कर दिया है कि जो लोग बार-बार केवल षड्यंत्र की राजनीति करना चाहते हैं उनके मंसूबे कभी पूरे नहीं होंगे । प्रदेश का दुर्भाग्य है कि कुछ तथाकथित स्वयंभू नेताओं ने खुद को प्रत्येक व्यवस्थाएं चाहे वह न्याय व्यवस्था ही क्यों ना हो से अपने आप को बहुत ऊपर मान लिया है उनको लगता है कि वह जैसा चाहेंगे वैसे ही होगा किंतु हमें ध्यान रखना चाहिए कि हमारे देश कि लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं में न्यायपालिका का महत्वपूर्ण स्थान है और आज पुन: इसी न्यायपालिका के माध्यम से षड्यंत्र के शिकार श्री हेमंत द्विवेदी जी इस फर्जी मुकदमे से पाक साफ होकर निकले हैं। इस घटना ने आज एक बार पुनः शासन प्रशासन में बैठे षड्यंत्र कार्यों के मुंह पर जोरदार तमाचा मारा है जो हमेशा अपने षड्यंत्र के बल पर इस प्रदेश में स्वयं को स्थापित रखना चाहते हैं। इस घटना से यह भी कहावत चरितार्थ हुई है कि भगवान के घर देर है पर अंधेर नहीं। सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक निर्णय से यह तो सिद्ध हो ही गया है कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं।

यह भी पढ़ें -   28 फरवरी को हल्द्वानी में होगा "द वॉइस ऑफ हिल" सिंगिग रियलिटी शो का ग्रांड फिनाले,पूरे देशभर में होगा लाइव प्रसारण।
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments