आदमखोर गुलदार पर शिकारियों का हमला ,गोली से घायल हुआ गुलदार ।।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हल्द्वानी के रानीबाग में दो महिलाओं को मौत के घाट उतारने वाले नरभक्षी गुलदार का शिकार करने के लिए शिकारियों का दल लगातार कॉम्बिंग कर रहा है, बीती देर रात शिकारियों ने गुलदार पर फायर किया जिससे वो घायल होकर जंगल मे भाग गया,
काठगोदाम और रानीबाग क्षेत्र में एक गुलदार का आतंक छाया हुआ है, गुलदार ने बीती 23 जून को काठगोदाम के सोनकोट में 58 वर्षीय महिला को मौत के घाट उतारा था, गुलदार दूसरी महिला को 11 जुलाई को काठगोदाम के गौला बैराज के समीप घास काटते समय घात लगाकर हमला बोलकर महिला की जान ले ली जिसके बाद माना गया था कि दोनों हादसों में शामिल गुलदार एक ही है, जिसको नरभक्षी घोषित करने की मांग की गई थी,

यह भी पढ़ें -   बढ़ते संक्रमण के बीच कुमाऊँ विश्विद्यालय की प्रयोगात्मक और लिखित परीक्षाएं हुई रद्द ।

बीते रोज सरकार ने गुलदार को नरभक्षी घोषित किया जिसके बाद स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली, सरकार ने गुलदार को मारने के लिए दो शिकारी और वन कर्मियों के साथ पुलिस बल को लगाया है,गुलदार को मारने के लिए एक बकरी को भी जंगल क्षेत्र में बांधा गया, शिकारियों ने रानीबाग क्षेत्र में रात्रि के समय घात लगाकर गुलदार पर हमला किया, हमले में शिकारी की एक गोली, गुलदार के शरीर मे लगी जिससे जंगल में खून देखा गया, गुलदार को ट्रंक्यूलाइज करने और मारने के लिए दो अलग टीम बनाई गई हैं गुलदार को जिंदा पकड़ना उनकी प्राथमिकता है लेकिन गुलदार अगर हमला करता है तो उसे मार गिराया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   नाईट कर्फ्यू और स्कूल खुलने को लेकर आज केबिनेट बैठक में हुए ये फैसले ।
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments