14 से 18 मई तक सस्ते गल्ले की दुकाने खुलेंगी सुबह 7 बजे से 10 बजे तक ,तीन माह तक मिलेगा 20-20 किलो राशन,सरकार ने जारी किये आदेश

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

कोविड संक्रमण में रोकथाम लगाने के लिए राज्य सरकार की और से 14 मई से 18 मई तक कोविड कर्फ्यू लागु किया गया है इस दौरान सभी दुकानों को बंद रखने के निर्देश जारी किये गए थे वही अब उत्तराखंड मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने सभी अधिकारियों सभी सचिवों आयुक्त कुमाऊं व गढ़वाल व जिलाधिकारियों को दिए निर्देश कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण के लिए कोविड-19 कर्फ्यू के दौरान राशन के सस्ते गल्ले की दुकानों के संचालन के संबंध में आदेश जारी किए हैं

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड :- यहां स्पा सेंटर पर हुई कार्यवाही,1 युवक समेत 5 युवतियां गिरफ्तार

इसके तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली के खाद्यान्न वितरण को सरल बनाने के लिए राज्य की समस्त राशन के सस्ते गल्ले की दुकान है 14 मई से 18 मई तक सुबह 7:00 बजे से 10:00 बजे तक खुली रहेगी वही अन्य राशन की दुकान है कल यानी 14 मई को खोली जायेंगी

तीरथ सरकार ने कोरोना काल मेंआम जनता को बड़ी राहत देते हुए, राज्य खाद्य योजना के 10 लाख परिवारों तीन महीनों यानी जुलाई तक उन्हें 20-20 किलो खाद्यान्न देने के निद्रेश दिए हैं । इसमें 10 किलो गेहूं व 10 किलो चावल शामिल है। राज्य खाद्य योजना के तहत करीब 10 लाख राशनकार्ड धारकोंयानी करीब 40 लाख व्यक्तियों को ज्यादा सस्ता खाद्यान्न दिया जाएगा। जानकारी देते हुए खाद्य सचिव सुशील कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देश के बाद इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी किए गए हैं। योजना के अन्तर्गत उपभोक्ताओं को साढ़े सात किलो खाद्यान्न हर महीने मुहैया कराया जाता है। इसमें पांच किलो गेहूं और 2.5 किलो चावल है। गेहूं 8.60 रुपये प्रति किलो और चावल 11 रुपये प्रति किलो की दर से दिया जाता है। जिसमेंअब खाद्यान्न की मात्रा में 12.50 किलो की वृद्धि की गई है।

यह भी पढ़ें -   तेंदुए का आतंक ,घर के आँगन से उठा ले गया पालतू कुत्ता ,सीसीटीवी में कैद हुई घटना
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

हमारे इस नंबर 9368692224 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

👉 Hills Mirror के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 Hills Mirror के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 Hills Mirror से Telegram पर जुड़ें

👉 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments