कांग्रेस प्रवक्ता दीपक का बयान, कहा अस्पताल से कैदियों की तरह भाग रहे हैं मरीज ,

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हल्द्वानी। उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने कहा है कि कल सुशीला तिवारी अस्पताल से कोरोना संक्रमित मरीज के लापता होने के 24 घंटे बाद उसके अस्पताल में ही शौचालय के अंदर मृत अवस्था में मिलने का मामला बेहद गंभीर है। इसके लिए अस्पताल प्रशासन के साथ ही प्रदेश सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है। बल्यूटिया ने कहा कि कुमाऊं के एकमात्र और सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में इतनी बड़ी घोर लापरवाही का उजागर होना सरकार की सबसे बड़ी नाकामी में एक है। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीज के लापता होने के बाद जहां अस्पताल प्रशासन और पुलिस को उसे ढूंढने में पूरी ताकत लगानी चाहिए थी वही उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही थी। इससे बड़ी शर्मनाक स्थिति इस सरकार के लिए और कुछ नहीं हो सकती।

यह भी पढ़ें -   293 एलटी शिक्षकों को मिलेगी पदोन्नति, 29 जून से नैनीताल में होगी काउंसलिंग प्रक्रिया

प्रदेश सरकार ने कुमाऊं के सबसे बड़े अस्पताल को मजाक का केंद्र बना दिया है। अस्पताल से लोग ऐसे भाग रहे हैं जैसे अपराधी पुलिस से बचने के लिए भागते हैं। इसे साफ जाहिर है कि मरीजों का सरकारी अस्पतालों में न तो ठीक से इलाज हो पा रहा है और न ही उन्हें कोई सुविधाएं दी जा रही है। वह भी तब जब सरकार कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए करोड़ों का बजट खपा रही। चेतावनी दी है कि यदि सरकार ने शीघ्र सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था सुदृढ़ नहीं की तो प्रदेश सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल का ऐतिहासिक बैंड स्टैंड झील में समाने का डर, आवाजाही रोकी गयी...
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments