नैनीताल: स्कूल का गेट खुलने के इंतजार में एक घण्टा खड़े रहते हैं बच्चे, मास्टर साहब आठ बजे तक नहीं आते। वीडियो हुआ वायरल….

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

मुक्तेश्वर। ओखलकांडा ब्लॉक के राजकीय प्राथमिक विद्यालय कुमल्टा, डालकन्या में शिक्षकों के इंतजार में बच्चे सुबह सात बजे से खड़े रहते हैं। लेकिन मास्टर साहब यहाँ आराम से आते हैं। शिक्षकों के समय से स्कूल न पहुंचने का एक वीडियो सोमवार को वायरल हो गया। जिसमें दिखाई दे रहा है कि सुबह सात बजे स्कूल खुलने का टाइम होने के बावजूद साढ़े आठ बजे तक विद्यालय के तीनों शिक्षक स्कूल नहीं पहुंचे। और बच्चे कतार में खड़े होकर स्कूल का गेट खुलने का इंतजार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   नाबालिग बाइक सवार की तेज रफ्तार ने ले ली स्कूटी सवार की जान... शादी के लिए शॉपिंग करने जा रहा था नैनीताल।

जानकारी के अनुसार राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कुमल्टा में दो शिक्षक व एक शिक्षिका तैनात हैं। विद्यालय में 40 बच्चे पढ़ते हैं। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि सभी बच्चे स्कूल के गेट पर ही बस्ता रखकर शिक्षकों का इंतजार कर रहे हैं। ग्रामीणों का भी कहना है कि स्कूल में शिक्षकों के देरी से पहुंचने का यह सिलसिला पुराना है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में काम को टालने वाले और “नो” कहने वाले अफसरों को ले लेना चाहिए रिटायरमेंट

वहीं वीडियो के वायरल होते ही खंड शिक्षा अधिकारी ने तीनों शिक्षकों का वेतन रोक दिया है। इसके अलावा कार्रवाई के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को भी पत्र लिखा गया है।

अभिभावक राजेश नैनवाल, पुष्कर पनेरु, त्रिलोचन पनेरु, दीपक पनेरु, संदीप आर्या आदि ने आरोप लगाया कि अक्सर विद्यालय में शिक्षक देरी से ही पहुंचते हैं। जिस कारण बच्चों को एक घंटे से ज्यादा समय तक विद्यालय के बाहर ही इंतजार करना पड़ता है। जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है।

यह भी पढ़ें -   चाफी में अंग्रेजों द्वारा बनाया ये 'झूला पुल' सवा सौ साल है पुराना... बेहतरीन गुणवत्ता के कारण आज भी जस का तस।

मामले का संज्ञान लेते हुए तीनों शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया है। साथ ही स्पष्टीकरण भी मांगा है। इसके अलावा कार्रवाई के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा गया है।
सुलोहिता नेगी, खंड शिक्षा अधिकारी

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments