नैनीताल। हिमालय पुत्री मां नंदा-सुनंदा को भावपूर्ण तरीके से किया ससुराल विदा, आस्था और श्रद्धा का सरोवर नगरी में दिखा संगम

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हिमालय की पुत्री के रूप में राज्य में पूजे जाने वाली महानंदा और सुनंदा की बुधवार को भावपूर्ण विदाई की गई। सरोवर नगरी में मां का डोला नगर भ्रमण पर निकला जहां चावल और सिक्के देकर उनका आशीर्वाद लिया गया।

हर कोई इस क्षण का साक्षी बनने को आतुर था मां के दर्द के लिए दूर दराज से लोग यहां पहुंचे थे। श्री नंदा देवी महोत्सव का आयोजन कोरोना काल के 2 साल बाद इस बार श्री राम सेवक सभा की ओर से भव्य रूप से नैनीताल में हुआ। मां नंदा सुनंदा के दर्शन और विदाई के नैनीताल श्रद्धालुओं से पट गया। ढ़ोल-नगाड़ों के साथ मां का डोला शहर भ्रमण के लिए निकला तो हजारों लोग श्रद्धा भाव से नाचते गाते डोले को कंधा देने पहुंचे। इस मौके पर छोलिया कलाकारों ने भी लोकनृत्य पेश किया।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में मोटा ब्याज लेने वाले सूदखोरों पर कसेगा इनकम टैक्स का शिकंजा... पुलिस ने बनाई लिस्ट।

कुल देवी के जयकारे लगाकर श्रद्धालु को रेला डोला भ्रमण के साथ साथ चला, नगर भ्रमण के बाद मूर्तियों को नैनी झील में विधि विधान के साथ विसर्जित किया गया और विधि विधान से मां से राज्य और देश की खुशहाली की समृद्धि की कामना की गई। इस दौरान डीएसए मैदान में लगे मेले में भी भारी संख्या में लोग घूमने के लिए पहुंचे।

यह भी पढ़ें -   मिलिए बागेश्वर के इस "अथातो घुमक्कड़" से! जिसने साईकिल से तय कर डाला 14 देशों का सफर…अभी भी यात्रा जारी…
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments