नैनीताल जिले के होम स्टे को मिलेगा बढ़ावा, अधिकारी भी करेंगे प्रवास…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल। जिला प्रशासन नैनीताल की ओर से होम स्टे योजना को बढ़ावा देने के उद्देश्य से नई पहल शुरू की गई है। इसके तहत अब गांवों में होम स्टे को बढ़ावा देने के लिए अब यहां अधिकारी भी प्रवास करेंगे।

जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि नैनीताल जिले के चयनित गांवों में विकास को गति देने के उद्देश्य से पर्यटन विभाग की दीन दयाल होम स्टे योजना के तहत पारंपरिक शैली में निर्मित होम स्टे संचालित किए जा रहे हैं। जिन्हें बढ़ावा देने के मकसद से अब उद्यान, कृषि, समाज कल्याण, युवा कल्याण, पर्यटन , अर्थ संख्या, जल संस्थान, डेयरी, पशुपालन, सहकारिता, सेवायोजन, पंचायती राज ,जिला ग्राम्य विकास अभिकरण ,संबंधित खंड विकास अधिकारी, जिला विकास अधिकारी व अन्य विभागों के अधिकारी भी यहां अब निवास करेंगे।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में काम को टालने वाले और “नो” कहने वाले अफसरों को ले लेना चाहिए रिटायरमेंट

विभागों द्वारा अपने-अपने विभाग की योजनाओं से भी स्थानीय निवासियों को रुबरू कराया जायेगा। बताया कि शासन द्वारा प्रायोजित योजनांतर्गत जिले में हॉर्टी टूरिज्म को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वर्तमान में रामगढ़ फॉर्म में ऑर्चर्ड और नर्सरी के विकास के बाद कैफे और कॉटेज के कार्य का निर्माण गतिमान है, जिससे इस क्षेत्र में नई इकोनॉमी का विकास होगा।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड पुलिस के 1611 कांस्टेबल को मिली पदोन्नति, बने हेड कांस्टेबल।

इसी तर्ज पर ग्राम प्रवास के दौरान चयनित ग्राम में एप्पल प्लांटेशन और कीवी प्लांटेशन की योजना का क्रियान्यवन उद्यान विभाग द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। बताया कि इस पहल से अन्य विभागों द्वारा भी अपने विभागों से संबंधित योजनाओं को धरातल पर उतारने हेतु प्रेरणा मिलेगी। साथ ही होम स्टे और स्थानीय खान पान का प्रचार-प्रसार भी हो सकेगा। 

यह भी पढ़ें -   चाफी में अंग्रेजों द्वारा बनाया ये 'झूला पुल' सवा सौ साल है पुराना... बेहतरीन गुणवत्ता के कारण आज भी जस का तस।
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments