नैनीताल: हिन्दू मान्यताओं के विपरीत नंदा देवी मेले में मांसाहारी खाद्य पदार्थों की दुकानें लगाने पर एतराज…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल। श्री नंदा देवी महोत्सव में हिन्दू मान्यताओं के विपरीत मेले में मांसाहारी खाद्य पदार्थों की दुकानें लगाए जाने पर हाईकोर्ट के अधिवक्ता नितिन कार्की ने ऐतराज जताया है। उन्होंने इस संबंध में मंगलवार को एडीएम शिव चरण द्विवेदी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में उन्होंने नंदा देवी महोत्सव के दौरान हिंदू मान्यता के अनुसार दी जाने वाली पशु बलि के लिए स्लॉटर हाउस की भी मांग की है।
अधिवक्ता कार्की ने बताया कि नंदा देवी महोत्सव आस्था का प्रतीक है। इस वर्ष 1 सितंबर से सात सितंबर तक महोत्सव का आयोजन होगा। वर्षों से इस महोत्सव की मान्यता रही है, लेकिन इस दौरान आयोजित होने वाले मेले के दौरान ठेकेदार द्वारा कुछ मांसाहारी बिरयानी बनाने वाली दुकानों को भी आवंटन किया जाता है, जिससे हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत होती हैं।

यह भी पढ़ें -   पहले डकारा फिर नकारा: अगस्त में नैनीताल में भाजपा ने कार्यक्रम कराया, अब ठेकेदार का भुगतान करने पर टाल मटोली

उन्होंने मुख्यमंत्री से इस वर्ष आयोजित किए जा रहे महोत्सव में हिंदू मान्यता व आस्था को देखते हुए ऐसी दुकानों को नहीं लगाने की मांग की है।


इसके अलावा उन्होंने बताया कि पूर्व में मेले में पशु बलि दी जाती थी, लेकिन कुछ वर्षों से मंदिर परिसर में पशुबलि पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके बाद से श्रद्धालु पशु को मां के समक्ष आशीर्वाद के लिए लाते हैं और उसके बाद घरों में ही बलि दी जाती है।

यह भी पढ़ें -   वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पुण्यतिथि: पेशावर के इस महानायक को बीच सभा में गांधी जी ने टोका- यह गोरखा हैट पहने मुझे डराने के लिए कौन यहां बैठा है?

इसके लिए स्थायी या अस्थायी रूप से स्लॉटर हाउस बनाया जाए। इस दौरान मनोज जोशी, हरीश जोशी, देवेन्द्र सिंह, विवेक वर्मा, विक्की कुमार, सिद्धार्थ क्षेत्री, अनिल ठाकुर, देवेन्द्र सिंह बगडवाल, किंशन, विक्रम रावत समेत अन्य लोग मौजूद रहें।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments