शिक्षा मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय से जारी विद्यालयों की परफारमेंस में उत्तराखंड के पिछड़ने पर अधिकारियों को लगाई फटकार, मांगा स्पष्टीकरण

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

देहरादून। शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने शनिवार को शिक्षा महानिदेशालय में विभागीय समीक्षा की। इस मौके पर उन्होंने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय से जारी विद्यालयों की परफारमेंस ग्रेडिंग इंडेक्स (पीजीआइ) रिपोर्ट में उत्तराखंड के पिछड़ने पर नाराजगी जताई। उन्होंने पीजीआई रिपोर्ट में राज्य के पिछड़ने के पीछे संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराते हुए उनकी जमकर खिंचाई की।

यह भी पढ़ें -   चंपावत: गर्भवती को बिना इलाज के ही डॉक्टरों ने हायर सेंटर कर दिया रेफर, एंबुलेंस में देना पड़ा बच्चे को जन्म…

शिक्षा मंत्री ने यूडाइस पोर्टल की जिम्मेदारी संभाल रहे अधिकारियों को स्पष्टीकरण देने को कहा है। इसके अलावा पोर्टल में सूचनाओं के लिए जिलों से समन्वय स्थापित करने में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई के भी निर्देश दिए। साथ ही शिक्षा विभाग को आवंटित बजट के उपयोग की धीमी गति पर भी उन्होंने नाराजगी जताई।

यह भी पढ़ें -   भीमताल डैम की बुनियाद में लगेगा सिस्मोग्राफ और टोमोग्राफी सिस्टम...

मालूम हो कि पीजीआई रिपोर्ट में देश के 37 राज्यों में उत्तराखंड का स्थान 35वां रहा। रिपोर्ट में शासन प्रक्रिया और अवसंरचना विकास व सुविधाओं की श्रेणियों में उत्तराखंड बहुत पीछे रहा है। उत्तराखंड की रिपोर्ट में स्थिति को लेकर शिक्षा मंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा है कि संबंधित अधिकारियों की लापरवाही के कारण राज्य का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में काम को टालने वाले और “नो” कहने वाले अफसरों को ले लेना चाहिए रिटायरमेंट
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments