साल 1884 में अस्तित्व में आई काठगोदाम रेलवे लाइन पर मंडरा रहा खतरा, रोकी गई आवाजाही

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

साल 1884 में हल्द्वानी-काठगोदाम क्षेत्र में अस्तित्व में आई रेलवे लाइन ट्रैक खतरे की जद में है। कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश रेलवे के लिए आफत बनकर आई है। जिले में पिछले 4 दिनों से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण लाइन की ट्रैक संख्या तीन के गौला नदी में बहने का खतरा बढ़ गया है।

यह भी पढ़ें -   बलियानाला भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र के 99 परिवारों का बेलवाखान में होगा विस्थापन...

सोमवार को भूकटाव अधिक होने पर इस ट्रैक पर ट्रेनों की आवाजाही रोक दी गई है। मालूम हो कि बरसात के कारण गौला नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। जिससे रेलवे पटरी को खतरा हो गया है। सुरक्षा की दृष्टि से ट्रैक पर ट्रेनों की आवाजाही को रोका गया है।

सोमवार को भूख हटाओ अधिक होने और गोला नदी का जलस्तर अत्यधिक बढ़ने के कारण सुरक्षा मानकों को देखते हुए रेल प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। रेल प्रशासन ने गोला नदी के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए अगले आदेश तक हल्द्वानी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 3 पर गाड़ियों का संचालन रोक दिया है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments