जेल में बंद कैदी की मौत मामले में CBI का बढ़ता शिकंजा ,मुकदमा किया दर्ज , 4 बंदीरक्षक बनाए गए आरोपी,जेल के कई अधिकारियों पर गिर सकती है गाज…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

देहरादून: छह मार्च को हल्द्वानी जेल में कैदी प्रवेश कुमार निवासी कुंडेश्वरी काशीपुर की मौत हो गई थी। उसपर पड़ोसी के साथ छेड़छाड़ व पत्नी के साथ झगड़ा करने का आरोप था। मामले में मृतक की पत्नी भारती ने विभिन्न स्तरों पर मामले की जांच की मांग की थी, जिसके बाद जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने मई 2021 में याचिकाकर्ता के आरोपों के आधार पर हल्द्वानी कारागार के चार कर्मचारियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए थे।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड हाईकोर्ट ने भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली द्वारा जारी वीडियो का लिया संज्ञान, राज्य सरकार को नोटिस भेजकर मांगा जवाब…

वही हल्द्वानी जेल में बंदी की मौत मामले में हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई देहरादून शाखा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकदमे में चार बंदी रक्षक आरोपी बनाए गए हैं। मुकदमा दर्ज कर सीबीआई ने साक्ष्य जुटाकर जांच शुरू कर दी है। मामले में निचली अदालत के आदेश पर बंदी रक्षकों समेत कुल चार के खिलाफ मुकदमा हुआ। प्रकरण हाईकोर्ट पहुंचा तो मेडिकल रिपोर्ट को गंभीरता से लिया गया।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड की तीन बेटियां राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए चयनित,16 सितंबर को होगा पहला मुकाबला...

हाईकोर्ट ने मामले में सीबीआई से जांच कराने के आदेश दिए।आदेश सीबीआई देहरादून ब्रांच पहुंचा। इस पर जेल के हेड गार्ड (मुख्य बंदी रक्षक) देवेंद्र प्रसाद यादव, बंदी रक्षक कीर्ति नैनवाल, देवेंद्र रावत और हरीश रावत के खिलाफ हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज लिया गया है। आपको बता दे इस मामले में एडवोकेट संजीव आकाश ने पीआईएल फ़ाइल कराई थी।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल: 121 वें श्री नंदा महोत्सव का हुआ आगाज, पारंपरिक नृत्य किए गए पेश..