नैनीताल में दूर होगी सीवेज की समस्या, अगले साल फरवरी माह में शुरू हो जाएगा इन इलाकों में सीवर लाइन बिछाने का कार्य।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल। नैनीताल शहर को वर्षों से चली आ रही सीवेज की समस्या से जल्द निजात मिलेगी। इसके लिए कार्यदायी संस्था द्वारा सर्वे का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। कार्यदायी संस्था तिरूपति द्वारा फरवरी 2023 से सीवर की लाईन बिछाये जाने का कार्य शुरू किया जाएगा। एडीबी वित्त पोषित नैनीताल नगरीय सीवरेज परियोजना की कुल लागत 63 करोड है, जिसे मई 2025 तक पूर्ण कर लिया जायेगा तथा कार्यदायी संस्था द्वारा सीवरेज लाईन का रखरखाव पांच वर्ष तक किया जायेगा।

यह भी पढ़ें -   बलियानाला भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र के 99 परिवारों का बेलवाखान में होगा विस्थापन...

 जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में एडीबी वित्त पोषित नैनीताल नगरीय सीवरेज परियोजना जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं परामर्श समिति की बैठक शुक्रवार को जिला कार्यालय में संपन्न हुई। इसमें जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में नैनीताल शहर के अधिकांश क्षेत्र सीवरेज से नहीं जुड़े है, इस डीपीआर के माध्यम से शहर के सीवरेज व एसटीपी टैंक की व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाएगा, जिससे शहरवासियों को सभी बेहतर व बुनियादी सुविधायें मिल सके। 

यह भी पढ़ें -   नैनीताल: उच्च न्यायालय ने अंकिता हत्याकांड मामले में पुलकित आर्य के नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट पर लगाई रोक

कार्यदायी संस्था तिरूपति के प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारा बताया गया कि प्रथम चरण में माल रोड, पंत पार्क से तल्लीताल तक सीवरेज पाईप जर्मन तकनीक के माध्यम से डाली जायेगी। कैपिटल सिनेमा के पास अतिरिक्त सीवर का स्टोरेज कर सीवरेज को तल्लीताल पाईप से लिंक किया जायेगा। 

दूसरे चरण में तल्लीताल से हनुमानगढी तक 800 एमएम पाईप लाइन बिछाई जायेगी, जिसकी लम्बाई कुल 1900 मीटर है। सीवर के अतिरिक्त स्टोरेज हनुमानगढी के पास बनाया जायेगा, जिसे रूसी बाईपास सीवरजे को लाईन द्वारा डाइवर्ट किया जायेगा और रूसी बाईपास पर सीवरेज का ट्रीटमेंट प्लान्ट बनाया जायेगा।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल: नारायण नगर में कूड़ा रिसाइक्लिंग प्लांट के निर्माण पर स्थानीय लोगों से प्रशासन की वार्ता विफल।

अनुश्रवण समिति द्वारा बताया गया कि सीवरेज लाईन का कार्य रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक किया जायेगा। जिससे आम जन को कोई परेशानी ना हो। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ. संदीप तिवारी, अपर जिलाधिकारी शिवचरण द्विवेदी, अशोक जोशी, सचिव प्राधिकरण पंकज उपाध्याय, उपजिलाधिकारी राहुल साह, अधिशासी अभियंता जल संस्थान विपिन चन्द्र, एई अनिल आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments