हल्द्वानी :- गरीबो के राशन की कालाबाज़ारी कर रहे 6 गल्ला विक्रेताओं के लाइसेंस हुए निरस्त ,एक के खिलाफ मुकदमा दायर

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के चलते ने गरीब और असहाय लोगों को राहत देते हुए सरकारी राशन दिए जाने के आदेश जारी किये थे ,वही गरीबो के हक़ पर डांका डालते हुए कुछ सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के राशन डीलर गरीबों को दिए जाने वाले राशन में कालाबाजारी कर मोटी कमाई को अंजाम दे रहे थे ।गरीबों के हक में अब तक ऐसे डाका डालने वाले 6 राशन डीलरों के लाइसेंस मई माह में रद्द कर दिए गए थे। जबकि जून महीने में भी एक दुकानदार का लाइसेंस निरस्त कर एक के खिलाफ मुकदमा FIR दर्ज करने की कार्रवाई की गई है।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल: अयारपाटा क्षेत्र में दर्जनों हरे-भरे पेड़ काटने पर एनजीटी गंभीर, निरीक्षण में मिलीं कई संदिग्ध चीजें, विभागीय गतिविधि की ओर कर रही इशारा!

खाद्य विभाग कुमाऊं मंडल के उपायुक्त राहुल शर्मा ने बताया कि राशन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ विभाग सख्त अभियान चला रहा है। सभी जिलों के जिला पूर्ति अधिकारी यों को शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई की निर्देश दिए गए हैं उन्होंने बताया कि कुमाऊं मंडल में 91 दुकानों का निरीक्षण किया गया जबकि 32 दुकानों में औचक छापेमारी की गई और कालाबाजारी के मामले नैनीताल जिले में देखने को मिले जब छापेमारी की गई तो यहां दुकानदारों के कोटे शिफ्ट किए गए थे ताकि राशन की निरंतर पूर्ति होते रहे ऐसे में गरीबों का खाद्यान्न हड़पने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई गई है।

यह भी पढ़ें -   यूनेस्को वर्ल्ड कल्चरल हेरिटेज में शामिल है कुमाऊं की रामलीला, ये है विशेषता...
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments