नैनीताल में यूएसए सर्टिफाइड और ब्राजील की भेड़ों की ऊन की बढ़ रही डिमांड…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल में ठंड बढ़ते ही ऊन के कारोबार ने पकड़ा जोर, कई वैरायटी उपलब्ध

नैनीताल। सरोवर नगरी में यूं तो बारामास की ठंड रहती है। यहां ऊन का कारोबार भी सालभर चलता है, लेकिन इन दिनों ऊन का कारोबार और अधिक जोर पकड़ रहा है। लोग इन दिनों तरह-तरह की ऊन खरीद कर ले जा रहे हैं। 300 से लेकर 5,000 रुपए प्रति पाउंड तक की ऊन शामिल है। यूएसए, यूरोप से सर्टिफाइड और ब्राजील की भेड़ों की ऊन लोगों को काफी पसंद आ रही है। वहीं फैशन ट्रेंड में बनी मोटी ऊन भी लोग काफी पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा कलरफुल ऊन भी काफी पसंद की जा रही है।

यह भी पढ़ें -   बलियानाला भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र के 99 परिवारों का बेलवाखान में होगा विस्थापन...

1948 वर्ष से मल्लीताल बड़ा बाजार में स्थापित “नैनीताल ऊन वाले” की दुकान में तरह-तरह की वैरायटी की बिक्री हो रही है। दुकान स्वामी श्रवण नागपाल बताते हैं कि यूएसए, यूरोप से सर्टिफाइड न्यू बेबी बोर्न के लिए बनी ऊन काफी पसंद की जा रही है। यह ऊन बच्चों की स्किन के लिए काफी आरामदायक होती है। भारत में ऐसी ऊन आसानी से नहीं मिलती है। इसकी कीमत ₹640 प्रति पाउंड है। इसी के साथ ब्राजील की भेड़ों की ऊन भी उपलब्ध है। इनसे बने स्वेटर काफी गर्माहट देते हैं। बताया कि भीड़ वाली उनकी कीमत ₹2080 प्रति पाउंड है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी:भ्रष्ट कर्मचारियों की शिकायत करने वालों को विजिलेंस ने बांटे एंड्रॉयड फोन...

प्योर सिल्क की ऊन है सबसे महंगी 

बताया कि सबसे महंगी ऊन प्योर सिल्क की है, जो कुछ शौकिया  लोग इसे स्टेटस सिंबल के तौर पर भी प्रयोग करने के लिए इसकी स्वेटर बनवाते हैं। उनकी कीमत ₹5600 प्रति पाउंड है।

मफलर के लिए पसंद की जा रही मोटी ऊन

बताया कि मफलर बनाने के लिए इन दिनों मोटी उन काफी पसंद की जा रही है, जिसके लिए अलग से मोटी सिलाइयां बाजार में उपलब्ध है। कहा यह लुधियाना से बड़ी मात्रा में मंगाई जा रही है, क्योंकि इसकी हाथों-हाथ बिक्री हो रही है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments