68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में उत्तराखण्ड को मिला मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का पुरस्कार

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नई दिल्ली विज्ञान भवन में शुक्रवार को 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार का आयोजन हुआ। जिसमें राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू द्वारा उत्तराखण्ड को मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का स्पेशल कैटेगरी का पुरस्कार दिया गया। महानिदेशक, सूचना एवं सीईओ उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद बंशीधर तिवारी द्वारा यह पुरस्कार प्राप्त किया गया।

महानिदेशक, सूचना एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद बंशीधर तिवारी ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य को यह पुरस्कार मिलने से प्रदेश में फिल्मों की शूटिंग को और अधिक प्रोत्साहन मिलेगा। कहा कि राज्य की धामी सरकार ने फिल्म उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं। फिल्म नीति को आकर्षक बनाया गया है, जिसमें सिंगल विंडो शूटिंग अनुमति प्रदान किया जाना शामिल है। कहा कि अब राज्य में शूटिंग के लिए कोई भी शुल्क नहीं लिया जा रहा है। नई फिल्म नीति में रुपये 1.5 करोड़ तक अनुदान दिये जाने की व्यवस्था है। इसके साथ ही शूटिंग अवधि में पुलिस सुरक्षा उपलब्ध कराया जाना शामिल है। क्षेत्रीय फिल्मों को स्थानीय सिनेमाघरों द्वारा सप्ताह में एक शो अनिवार्य रूप से दिखाया जाना है।

यह भी पढ़ें -   भीमताल: पैराग्लाइडिंग संचालन में आ रही कठिनाइयों को दूर करने करने के लिए तकनीकी समिति करेगी सर्वे


तिवारी ने कहा कि देश के अन्य राज्यों को पीछे छोड़ते हुए उत्तराखण्ड राज्य का इस पुरस्कार के लिए चयन हुआ है। आगे भी फ़िल्मों की शूटिंग उत्तराखंड में हो सके, इसके लिए योजनाएं बनाई जाएंगी, जिससे उत्तराखंड देश और विश्व पटल पर अपनी छाप छोड़ सके।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments