उत्तराखंड :- जा रहे हैं चारधाम यात्रा पर तो जान लें यह नियम ,इन वाहनों को नहीं मिलेगी एंट्री

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

प्रदेश सरकार की ओर से चारधाम यात्रा के लिए नया अपडेट सामने आया है , नए नियमो के अनुसार अब केदारनाथ ,बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब सहित चारधाम यात्रा पर जाने वाले प्राइवेट वाहनों को यूजर चार्ज के रूप में अब 30 रूपये ज्यादा देने होंगे। पहले यह शुल्क 20 रुपये था, लेकिन अब प्रति ट्रिप (फेरे) पर 50 रुपये अदा करने होंगे। हर वाहन को यात्रा पर निकलने से पहले ट्रिप कार्ड बनाना होगा।  इतना ही नहीं बल्कि हर एक वाहन पर मोटर वाहन अधिनियम के तहत हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगी होनी अनिवार्य की गई है। अगर आपके वाहन पर ये नंबर प्लेट नहीं होती है तो आगे जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

यह भी पढ़ें -   चोपड़ा के वचनढूंगा में वायरक्रेट से प्लेटफार्म बनाने का कार्य अटका, पैसे तो मिल गए लेकिन नहीं मिल रहे ठेकेदार...

हेमकुंड साहिब जाने वाले टूव्हीलर वाहनों के लिए इस साल ट्रिप कार्ड लेना अनिवार्य होगा। राज्य में एंट्री सेस को नए सिरे से तैयार किया जा रहा है। परिवहन सचिव ने आयुक्त-परिवहन दीपेंद्र चौधरी को हिमाचल की व्यवस्था का अध्ययन करने के निर्देश दिए। हिमाचल के आधार पर आयुक्त सरकार को एंट्री सेस पर नया प्रस्ताव देंगे।

चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर परिवहन सचिव डॉ. रंजीत सिन्हा की अध्यक्षता में आयेाजित बैठक में यह निर्णय किया गया। 18 जून को हुई इस बैठक के मिनट्स मंगलवार को जारी कर दिए गए हैं। सचिव ने चारधाम यात्रा के दौरान ग्रीन कार्ड ऑनलाइन साफ्टवेयर में प्राइवेट वाहनों के ट्रिप कार्ड की व्यवस्था भी तैयार करने को कहा।यूजर चार्ज के रूप में एंट्री सेस लेने की व्यवस्था भी ऑनलाइन पोर्टल में शामिल की जाएगी। यूजर चार्ज को 20 से रूपये बढ़ाकर 50 रुपये करने का निर्णय भी बैठक में किया गया।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल में भारतीय ओलंपिक संघ के महासचिव राजीव मेहता के अवैध निर्माण को प्राधिकरण ने किया सील

कोरोना की वजह से कैंसिल चल रही यात्रा को सरकार ने एक जुलाई से शुरू करने की अनुमति दे दी है। पहले चरण में उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिले के लोगों को यात्रा पर जाने की इजाज दी गई है, जबकि 11 जुलाई से प्रदेशभर के श्रद्धालु यात्रा पर जा सकेंगे। आयुक्त दीपेंद्र चौधरी, अपर सचिव आनंद श्रीवास्तव, उप सचिव आशुतोष शुक्ल, अनुसचिव प्रेमप्रकाश आर्य, उपपरिवहन आयुक्त सनत कुमार सिंह, आरटीओ दिनेश चंद्र पठोई, डॉ. अनीता चमोला, संदीप सैनी, एआरटीओ अरविंद पांडे, आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल में भारतीय ओलंपिक संघ के महासचिव राजीव मेहता के अवैध निर्माण को प्राधिकरण ने किया सील


Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments