उत्तराखंड:-साइबर ठगो का नया जाल ,वैक्सीनेशन के नाम पर 10 से 15 हजार रुपये की कर रहे मांग

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

प्रदेश में वैक्सीनेशन को लेकर सरकार की ओर से रजिस्ट्रेशन के साथ ही अन्य ऑनलाइन प्रक्रियाओं को लागू किया है जिससे वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को सरलता से किया जा सके ऑनलाइन प्रक्रियाओं के बीच अब साइबर ठग भी एक्टिव हो गए हैं उत्तराखंड में यह पहला मामला सामने आया है जहां साइबर ठगों ने यह अस्पताल के नंबर को हैक कर वैक्सीन लगवाने के नाम पर ठगी की प्रक्रिया शुरू कर दी वहीं इस घटना की जानकारी पुलिस को मिलने पर जांच शुरू हो गई है वैक्सीनेशन के संबंध में अस्पताल ने हेल्प लाइन नंबर जारी किया हुआ है। कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या या इलाज के बारे में जानकारी ले सकता है।

यह भी पढ़ें -   लोक चित्रकला के प्रचार-प्रसार में जुटी भीमताल की पूजा पडियार पहुंची देश की राजधानी, कुमाऊं की संस्कृति से लोगों को कराया रूबरू…

जैसे की सरकार ने निजी अस्पतालों को भी वैक्सीन लगाने की अनुमति दे दी है तो काफी लोग जानकारी के लिए संपर्क करते हैं। सार्वजनिक किए गए इस संपर्क नंबर को साइबर ठगों ने आगे फारवर्ड कर दिया है। इस नंबर पर संपर्क करने पर व्यक्ति का कॉल हॉस्पिटल पर ना आकर ठगों के पास पहुंच रहा था। इसके बाद ठग दूसरे नंबर से फोन करके टोकन मनी के नाम पर 10 से 15 हजार रुपये की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल में नगर पालिका कर्मचारियों ने संविधान दिवस पर अंबेडकर को याद कर संविधान की ली शपथ...

जानकारी के मुताबिक देहरादून के टनल रोड पर स्थित एक अस्पताल के संपर्क नंबर को साइबर ठगों ने हैक कर लिया जब एक महिला ने अस्पताल के इस नंबर पर वैक्सीनेशन के लिए कॉल की तो वह कॉल सीधे साइबर ठगों के पास जा पहुंची,अस्पताल प्रबंधन को जब इस बारे में जानकारी मिली तो तत्काल इसकी शिकायत दर्ज कराई गई जांच में यह सामने आया है कि कॉल झारखंड से सामने आई है। इस घटना के बाद यह सामने आया हैवैक्सीनेशन के नाम पर साइबर ठग सोशल मीडिया फेसबुक व्हाट्सएप के जरिए ठगी को अंजाम दे रहे हैं ऐसे में सावधान रहने की बेहद आवश्यकता है

यह भी पढ़ें -   कनालीछीना में शराब के नशे में धुत पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल, स्थानीय लोगों ने महिला से छेड़छाड़ का लगाया आरोप...(वीडियो)
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments