उत्तराखंड : – केंद्रीय मंत्रिमंडल में नैनीताल-उधमसिंहनगर सांसद अजय भट्ट हुए शामिल ,एक नजर उनके राजनितिक जीवन पर

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल-उधम सिंह नगर संसदीय क्षेत्र से सांसद अजय भट्ट, मोदी सरकार के कैबिनेट का हिस्सा बन गए हैं प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय मंत्रीमंडल का विस्तार करते हुए 43 नए मंत्री बनाए हैं राष्ट्रपति भवन में आयोजित शपथ समारोह में केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिली है उत्तराखंड के रानीखेत में जन्मे सांसद अजय भट्ट तीन बार विधायक रह चुके हैं। और उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष दोनों पद एक साथ संभालने के बाद प्रचंड बहुमत की भाजपा सरकार को लाने में वह सफल रहे ।2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें नैनीताल उधम सिंह नगर संसदीय क्षेत्र से टिकट मिला था जिसके बाद उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को सवा तीन लाख वोटों से हराकर लोकसभा के सदन तक पहुंचे थे लेकिन पहले मंत्रिमंडल के विस्तार में उत्तराखंड से केंद्रीय शिक्षा मंत्री के रूप में निशंक को चुना गया और मोदी कैबिनेट के दूसरे विस्तार में आज नैनीताल सांसद अजय भट्ट को स्थान मिला है

यह भी पढ़ें -   कहीं यह बरसात फिर कोई आफत बनकर न बरसे...

राजनितिक जीवन पर एक नजर
पार्टी से जुड़ाव विद्यार्थी जीवन में विद्यार्थी परिषद के सन् 1980 से सक्रिय सदस्य के रूप में इसके पूर्व पूरा परिवार जनसंघ में समर्पित

पदभार

1 भाजयूमो मोर्चा उ०प्र० कार्य समिति का सदस्य सन् 1985 में

संयोजक भाजयूमो तहसील भिक्यासैण एवं रानीखेत (पूर्व में)
3- जिला मंत्री भाजपा अल्मोडा़ (पूर्व में)

4 उपाध्यक्ष भाजपा अल्मोड़ा (पूर्व में)

15 अल्मोड़ा भाजपा कार्यसमिति का सन् 1995 से सदस्य

4- सदस्य उत्तरांचल प्रदेश संघर्ष समिति (पूर्व में)

1- एकता यात्रा के अल्मोड़ा जिले की केसरीया वाहिनी का प्रमुख (पूर्व)

8 संयोजक 2 बार अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय सीट

सदस्यता अभियान प्रमुख (पूर्व )

10- प्रदेश मंत्री भाजपा० उत्तरांचल प्रदेश (पूर्व में).

11- प्रदेश महामंत्री भाजपा उत्तराखण्ड प्रदेश 2 बार

सामाजिक दायित्व

1- 10 वर्षों से लगातार अध्यक्ष, सरकारी श्रमिक संघ कोआपरेटिव ड्रग फैक्ट्री रानीखेत

2- सचिव नागरिक सुरक्षा परिषद रानीखेत (पूर्व )

3 सचिव राष्ट्रीय ग्रामोत्थान परिषद (पूर्व में).

4 महासचिव उत्तरांचल हरिजन शिल्प उत्थान (पूर्व में).

5 उपाध्यक्ष नूपुर कला एवं खेल संस्थान रानीखेत (पूर्व में)

यह भी पढ़ें -   नैनीताल का ऐतिहासिक बैंड स्टैंड झील में समाने का डर, आवाजाही रोकी गयी...

सरंक्षक बाल्मीकि समाज रानीखेत

7 संयोजक श्रीराम कार सेवा समिति रानीखेत राम मन्दिर निर्माण के समय

४ सदस्य अम्बेडकर मिशन (पूर्व में).

विधायक

1 1996 में प्रथम बार उत्तर प्रदेश विधान सभा में रानीखेत विधान सभा से निर्वाचित

2-2002-2007 एवं 2012-2017 में रानीखेत विधान से उत्तराखण्ड विधान सभा में निर्वाचित

सरकारी दायित्व उत्तर प्रदेश विधानसभा में

उत्तर प्रदेश सभा में लोक लेखा समिति व सीपीएफ के सदस्य
2 उत्तर प्रदेश विधान सभा की विशेषाधिकार समिति के सभापति

उत्तरांचल सरकार में मंत्री का दायित्व,

(क) चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, (ख) आपदा प्रबन्धन एवं पुर्नवास,

(ग) आबकारी विभाग,

(घ) महिला सशक्तिकरण विभाग,

(च) विधायी एवं संसदीय कार्य,

(छ) बाल विकास विभाग

2- संयोजक विधान मण्डल उत्तरांचल विधान मण्डल दल,

3- सभापति सरकारी आश्वासन समिति उत्तराखण्ड विधान सभा,

4 उपाध्यक्ष एन०आर०एच०एम० वर्ष 2009 से 2011 तक,

5- 18 मई 2012 से 15 मार्च 2017 तक नेता प्रतिपक्ष, उत्तराखण्ड

विधान सभा

दिनांक 31 दिसम्बर 2015 से प्रदेश अध्यक्ष भा०ज०पा० उत्तराखण्ड

यह भी पढ़ें -   नैनीताल का ऐतिहासिक बैंड स्टैंड झील में समाने का डर, आवाजाही रोकी गयी...

बतौर नेता प्रतिपक्ष रहते हुए तत्कालीन सरकार को प्रत्येक मोर्चे पर घेरते हुए सरकार के आबकारी (शराब) घोटला,जमीन घोटाले सरकार बचाने के लिए लेन-देन सम्बन्धी स्टिंग राशन घोटाला, खनन घोटाला, आपदा घोटाला, नैनीसार (अल्मोडा) में अन्तर्राष्ट्रीय आवासीय विद्यालय खोले जाने के नाम पर हुए जमीन घोटाला, पंतनगर पत्थरचट्टा में सेना की जमीन का घोटाला, नारी निकेतन देहरादून स्थित संवासिनियों का यौन शोषण प्रकरण, स्मार्ट सिटी के नाम पर देहरादून में चाय बगान की 1700 एकड़ जमीन को खुर्द-बुर्द किये जाने का प्रकरण एवं कोटद्वार के चावल घोटाले को सदन से लेकर सड़क तक संघर्ष करते हुए जनता के बीच पहुँचाने में बखूबी कामयाब रहे

जिसके बाद 31 दिसम्बर 2015 को उन्हें पार्टी शीर्ष नेतृत्व ने नेता प्रतिपक्ष के साथ-साथ प्रदेश अध्यक्ष की दोहरी जिम्मेदारी भी दी। दोहरी जिम्मेदारी को निभाते हुए बूथ स्तर तक प्रदेश में पार्टी को मजबूत करने का कार्य किया जिसका परिणाम रहा कि प्रदेश में भा०ज०पा० ने 57 सीटों पर परचम लहराकर मजबूत सरकार बनाई।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments