उत्तराखंड:- यहां यूनिपोल पर फ्लैक्सी लगा रहे युवक की गिरकर मौत

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हल्द्वानी: शहर से एक बड़ा ही दर्दनाक मामला सामने आया है। एमबीपीजी कॉलेज के सामने यूनिपोल पर होर्डिंग लगाने के लिए चढ़ा एक युवक बैलेंस बिगड़ने के बाद जमीन पर गिर गया। आनन फानन में उसे अस्पताल ले जाया गया मगर वह तब तक दम तोड़ चुका था। बताया जा रहा है कि युवक ने सुरक्षा के लिहाज से सिर पर कुछ नहीं पहना थादरअसल नैनीताल रोड पर कई सारे यूनिपोल हैं। ऐसे ही एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी के पास स्थित एक यूनिपोल पर रविवार शाम एक युवक होर्डिंग लगाने आया। जानकारी के अनुसार सराय लुहनिया, पोस्ट रवाईपुर तिलहर, शाहजहांपुर का मूल निवासी मनोज कुमार पुत्र मक्खन लाल हल्द्वानी में कुमाऊं एडवरटाइजिंग कंपनी में काम करता था। नौ अक्टूबर को एक होटल के आयोजन की तैयारियां चल रही थीं।इसलिए एजेंसी के मालिक के कहने पर 28 वर्षीय युवक फ्लैक्सी लगाने के लिए रविवार की शाम को यहां यूनिपोल पर चढ़ गया। मनोज होर्डिंग लगाने ऊपर चढ़ गया मगर वहां उसका पैर अनियंत्रित हो हो गया। जिस कारण उसका हाथ पकड़ से छूट गया और वह सिर के बल जमीन पर आ गिरा। सड़क पर टकराने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

आसपास के लोगों ने ज्यादा देर ना करते हुए उसे पास के ही एक निजी अस्पताल पहुंचाया। मगर डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया। कोतवाली पुलिस का मानना है कि युवक ने सुरक्षा उपकरण नहीं पहने हुए थे। चर्चाएं ये भी हैं कि युवक को यूनिपोल पर करंट लग गया। जिसक वजह से ये हादसा हुआ। बता दें कि पोल की ऊंचाई 17 फीट करीब मानी जा रही है।भोटियापड़ाव चौकी इंचार्ज संजय बृजवाल और कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने घटनास्थल का मुआयना किया। इसके बाद चौकी प्रभारी ने बताया कि शव मोर्चरी में रख दिया है। करंट से मौत की चर्चा के बीच उन्होंने साफ किया कि मृतक के शरीर पर जलने के निशान नहीं हैं। नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने अनुबंधित कंपनी के प्रतिनिधि से डिटेल मांगी है। साथ ही लापरवाही की दशा में कार्रवाई की बात कही है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

हमारे इस नंबर 9368692224 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

👉 Hills Mirror के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 Hills Mirror के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 Hills Mirror से Telegram पर जुड़ें

👉 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments