फ़ोन पर पुराने प्रेमी का मैसेज देख इमरान ने कर दी दीक्षा की हत्या ,

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

पुलिस ने नैनीताल के होटल में हुई दीक्षा मिश्रा की हत्या के मामले में खुलासा करते हुए हत्या के आरोपी ऋषभ उफॅ इमरान को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है । आरोपी इमरान ने हत्या की बात कबूलते हुए कहा कि दीक्षा के पुराने ब्वॉयफ्रेंड का मैसेज देख कर उसका दीक्षा के साथ झगड़ा हो गया था। आवेश में आकर उसने गला दबाकर दीक्षा की हत्या कर दी। इस घटना के बाद वह भाग गया। कहा कि वह बीते एक साल से वह दीक्षा के साथ लिव इन में रह रहा था। दीक्षा के लिए ही उसने अपना नाम इमरान से परिवर्तित कर ऋषभ तिवारी रख लिया था।
पुलिस के मुताबिक होरिजन होम साइबेरी नोएडा एक्सटेंशन गौतम बुद्ध नगर निवासी दीक्षा मिश्रा अपने प्रेमी ऋषभ उर्फ इमरान और दो दोस्तों के साथ 13 तारीख को नोएडा से घूमने के लिए पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें -   उत्‍तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र मंगलवार से होगा शुरू… भर्ती घपले, वनंतरा रिसार्ट प्रकरण, कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को सदन में घेरेगा विपक्ष।

पहले दिन कॉर्बेट पार्क रामनगर में रुकने के बाद 14 अगस्त को चारों नैनीताल पहुंचे। जहां वह मल्लीताल गाड़ी पड़ाव क्षेत्र में एक होटल में ठहरे हुए थे। 15 अगस्त को दीक्षा का जन्मदिन होने के कारण दिन में सभी ने खूब जश्न मनाया। इमरान ने बताया कि दिन में झील में नौकायन करने के साथ ही देर शाम माल रोड में दीक्षा का जन्मदिन का केक काटा गया। जिसके बाद चारों लोग रात को कमरे में पहुंचे।होटल में दीक्षा, स्वेता और अलमास ने दारू पार्टी की। इमरान ने शराब नहीं की। रात श्वेता और अलमास अपने कमरे में चले गए। जिसके बाद दीक्षा के फोन पर पुराने प्रेमी का मैसेज देख कल वह गुस्से में था। इस मुद्दे पर दोनों में विवाद हुआ। आवेश में आकर इमरान ने गला दबाकर दीक्षा की हत्या कर दी

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में काम को टालने वाले और “नो” कहने वाले अफसरों को ले लेना चाहिए रिटायरमेंट
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments