रामनगर: हाथियों का आतंक,किसान को कुचलकर मार डाला ।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

रामनगर। कॉर्बेट पार्क से सटे तराई पश्चिम वन प्रभाग में अपनी फसल देखने गए किसान को हाथियों ने कुचलकर मार डाला। सुबह खेत में उसका कुचला शव मिला और आस-पास हाथियों के पद चिह्न से घटना का खुलासा हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। जंगल से सटे आबादी क्षेत्र में वन विभाग ने सुरक्षा बढ़ा दी है। पुलिस के अनुसार मालधन के तुमड़िया डैम निवासी हिम्मत सिंह (35) पुत्र लक्ष्मण सिंह सोमवार देर रात जंगल से सटे खेत में फसल देखने गया था। रात करीब 12 बजे घर लौटते वक्त वहां हाथियों के झुंड के साथ खड़े हाथी ने हिम्मत सिंह पर हमला कर दिया। किसान ने जान बचाने के लिए भागने की कोशिश की मगर हाथी ने उसे पैरों तले कुचल दिया। हिम्मत की मौके पर ही मौत हो गई। किसान के देर रात तक घर न पहुंचने पर चिंतित परिजनों ने ग्रामीणों के साथ उसकी तलाश शुरू की। मंगलवार सुबह हिम्मत का शव कुचली हालत में खेत में पड़ा मिला।

यह भी पढ़ें -   NIOS से डीएलएड करने वाले हजारो युवाओं को मिली हाईकोर्ट से राहत,

परिजनों के अनुसार शव के आस पास हाथियों के पैरों के निशान थे। कोतवाल रवि कुमार सैनी ने बताया कि हिम्मत अपने पीछे बेटी और तीन बेटे छोड़ गया। डीएफओ हिमांशु बागरी ने बताया कि इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। ग्रामीणों से जंगल की ओर नहीं जाने की अपील की गई है। झुंड में आया था हाथी, देखते ही हमला किया वन कर्मचारी के अनुसार घटना स्थल पर कई हाथियों के पैरों के निशान हैं। हाथी झुंड में आया था और हिम्मत को देखते ही एक ने हमला कर दिया। गांव के लोगों से इस इलाके में नहीं आने को कहा गया है। वन्यजीव दिखने पर तुरंत सूचना देने को कहा गया है। ग्रामीणों का वन विभाग पर फूटा गुस्सा रामनगर। मालधन के तुमडि़या डैम में पहली बार हाथी के हमले में ग्रामीणों की मौत के बाद गांव के लोगों में भारी आक्रोश है। उनका कहना है कि गांव में हाथी, बाघ आदि आते रहते हैं। कई बार वन विभाग को बताया गया है। मगर वन विभाग की लापरवाही के चलते किसान की जान चली गई।

यह भी पढ़ें -   NIOS से डीएलएड करने वाले हजारो युवाओं को मिली हाईकोर्ट से राहत,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments