नए विधान भवन का विरोध हुआ शुरू , पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कुंजवाल का बयान…..

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


news sorce // tara joshi __ hills mirror.com

देहरादून के रायपुर में एक और विधान भवन बनाने की कवायद के बाद राजनीति गरमाने लगी है ,विपक्षी दल कॉंग्रेस इस मुद्दे को लेकर त्रिवेंद्र सरकार को घेरने का मन बना रही है , जहां एक तरफ विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने नए विधानसभा भवन को लेकर अधिकारियों की बैठक ली तो वहीं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने इस प्रोजेक्ट का विरोध किया है और कहा कि यदि सरकार ने ऐसा किया तो प्रदेश में बड़ा आंदोलन होगा , उन्होंने कहा कि जब सरकार ने गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया तो प्रदेश की जनता के सांथ ही तमाम विपक्षी दलों ने सरकार के इस कदम की सराहना की थी लेकिन कुछ महीनों के बाद ही अब सरकार ने ये नया मुद्दा उठा दिया है , इससे साफ जाहिर होता है कि जिस प्रदेश के लिए यहां की जनता ने आंदोलन किया था उससे भाजपा सरकार मुंह मोड़ रही है ,प्रदेश में विकास के काम ठप्प है ,सरकार कर्मचारियों को वेतन नही दे पा रही है ,

यह भी पढ़ें -   अंकिता के बलिदान के बाद हरकत में आई सरकार, नैनीताल में पांच रिजॉर्ट किए सील, बाकि पर कब होगी कार्रवाई?

ऐसे में इतने बड़े प्रोजेक्ट के लिए पैसे कहाँ से और कैसे आएंगे ?? कुंजवाल ने कहा कि 2012 में तत्कालीन बहुगुणा सरकार में इस जमीन को वन बिभाग से लिया गया था , बीजेपी सरकार का इसमें कोई योगदान नही , उन्होंने कहा कि यदि देहरादून में एक और बिधान सभा भवन बनता है तो यह प्रदेश की जनता से बहुत बड़ा धोखा होगा ,पहले सरकार प्रदेश की जनता को यह बताए कि उत्तराखण्ड की स्थायी राजधानी है कहाँ ???

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में अल्मोड़ा में हुई थी सबसे पहले रामलीला, पेट्रोमैक्स और चीड़ के छिलके जलाकर होता था मंचन

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments