एनआरडीसी ने कुविवि के नैनो साइंस के चार पेटेंट लाइसेंस पर किए हस्ताक्षर

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय परिसर में शुक्रवार को विवि के कुलपति प्रो. एनके जोशी, नेशनल रिसर्च डेवलपमेंट, एनआरडीसी, भारत सरकार, न्यू दिल्ली के बीच एक संयुक्त रूप से पेटेंट संबंधी विषय पर बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान एनआरडीसी न्यू दिल्ली के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर कॉमाडोर अमित रस्तोगी ने एनआरडीसी के द्वारा पेटेंट संबंधी कार्यों की जानकारी दी। एनआरडीसी द्वारा कुमाऊं विश्वविद्यालय के पेटेंट कार्यों में सहयोग करने की बात भी कही गई। 

यह भी पढ़ें -   बलियानाला भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र के 99 परिवारों का बेलवाखान में होगा विस्थापन...

इस मौके पर कुविवि के नैनो साइंस एवं नैनो टेक्नोलॉजी सेंटर द्वारा विकसित चार पेटेंट लाइसेंस में हस्ताक्षर किए गए। ये चार पेटेंट फूड वेस्ट से ग्राफीन, एग्रीकल्चर बेस्ट से ग्राफिन एवं कांक्रीट मिक्सर से संबंधित थे। इस लाइसेंस प्रक्रिया में कुलसचिव दिनेश चंद्र, शोध निदेशक प्रो. ललित तिवारी, प्रो. नंद गोपाल साहू और एनआरडीसी के तरफ से अमित रस्तोगी व डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव ने हस्ताक्षर किए। साथ ही कुविवि के नैनो साइंस द्वारा दो नए पेटेंट को भी एनआरडीसी के माध्यम से पेटेंट कराने के लिए सौंपा गया। इस दौरान बैठक का संचालन प्रो. ललित तिवारी ने किया।इस दौरान डीन ऑफ साइंस के प्रो. एबी मेलकानी, डॉ. महेश आर्य व एनआरडीसी से डॉक्टर अश्विनी, शोधार्थी डॉक्टर सुनील डाली, मयंक पाठक, भास्कर बोहरा, दीपक देव  व विक्रम कार्की मौजूद रहे।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments