भारी बारिश का कहर ,धारचूला-लिपुलेख मोटर मार्ग पर बना 157 फुट लंबा पुल काली नदी में समाया

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

पिथौरागढ़ जिले के सीमांत धारचूला क्षेत्र में बारिश के चलते नदी, नाले उफान पर हैं। भारी बारिश से धारचूला-लिपुलेख मोटर मार्ग पर कुलागाड़ में बना आरसीसी पुल बह गया। जिसके चलते धारचूला की दारमा, व्यास, चौंदास घाटी का संपर्क अन्य क्षेत्रों से कट गया। इस कारण सीमांत के ग्रामीणों के साथ ही सेना को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश और मलबा आने से चीन सीमा को जोड़ने वाली चार सड़कों समेत जिले की 19 सड़कें बंद हो गई हैं।धारचूला में 32.5 मिमी और मुनस्यारी में 11 मिमी बारिश हुई। भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं।

यह भी पढ़ें -   राजस्थान से उत्तराखंड लाई गई अवैध शराब के साथ दो आरोपी गिरफ्तार

बुधवार रात धारचूला से 10 किमी दूर स्थित रांथी के कुलागाड़ में वर्ष 1999 में बना 157 फुट लंबा आरसीसी का पुल बह गया जिससे चौंदास के 14, व्यास के सात और दारमा के 30 गांवों का संपर्क कट गया है। लोगों का कहना है कि बारिश तो सामान्य थी लेकिन ऊपरी क्षेत्रों से आए मलबे का बहाव इतना अधिक था कि कुलागाड़ में बना पुल काली नदी में समा गया। पुल बहने की सूचना के बाद बीआरओ के चीफ इंजीनियर और कमांडेंट ने मौका मुआयना किया। पुल बहने के बाद सड़क के दोनों और सैकड़ों वाहन फंस गए हैं। फिलहाल पैदल आवाजाही के लिए ग्रिफ ने अस्थायी पुल बना दिया है। लोग अस्थायी पुल से आवाजाही कर वाहनों की अदला-बदली कर रहे हैं। लोगों ने बीआरओ से शीघ्र पुल का निर्माण की मांग की है।

यह भी पढ़ें -   (अच्छी खबर) लालकुआं से आनंद विहार के लिए.. कोरोना काल से बंद चल रही एक्सप्रेस ट्रेन, का जल्द होने जा रहा संचालन शुरू
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

हमारे इस नंबर 9368692224 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

👉 Hills Mirror के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 Hills Mirror के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 Hills Mirror से Telegram पर जुड़ें

👉 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments