हल्द्वानी :-आईपीएल सट्टे को रोकने का जिम्मा लेने वाले ही बने सट्टे के पहरेदार…

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

जब सय्या कोतवाल तो डर काहे का, कुमाऊँ की आर्थिक राजधानी हल्द्वानी में इन दिनों आईपीएल सट्टा जोरो पर चल रहा है, सूत्रों की माने तो सट्टा लगाने वाले बुकियों का पहरा ही मित्र पुलिस करने लगी है। दबिश से पहले बुकियों के पार्टनर बने मित्र पुलिस के होनहार कर्मचारी अपने दूसरे नम्बरो या फिर व्हाट्सएप ऑडियो कॉल के माध्यम से अपने साझेदारों को आगाह करने का काम करते है ताकि भविष्य में किसी भी तरह की जांचों से बच सकें। एक मामूली सी सिपाहियों की सल्तनत इतनी फैली है कि वह पूरे जिले के अवैध कारनामो के ठेकेदार है, सूत्रों के हवाले से ज्ञात हुआ है सट्टा कारोबारियों में शहर के सामाजिक कार्यकर्ताओ जिनमे से कुछ महानभावो को पुलिस कोरोना वॉरियर से सम्मानित भी कर चुकी है। पुलिस से सम्मान पाकर अधिकारियों से करीबियां बढ़ाने के बाद अब आईपीएल सट्टे में हाथ आजमाते इज्जतदार सटोरिए जिन्हें जिले की स्पेशल पुलिस टीम का संरक्षण मिल रहा हो उसे स्थानीय थाना चौकियों की वर्दी से क्यो डरना है ? स्पेशल पुलिस टीम के कुछ सदस्यों की ही सट्टा कारोबार में साझेदारी जाहिर करती है पुलिस के ईमानदार अधिकारियों के मंसूबो पर पानी फेरने का काम किया जा रहा है। कुछ दिन पहले उन सटोरियों को गिरफ्तार किया गया जो सिर्फ सट्टे के बाज़ार की छोटी कड़ियां थी, सट्टे के मठाधीशों को आखिर संरक्षण किसका है,

दर्जनों मठाधीश अलग अलग नम्बरो से करोबार धड़ल्ले से कर रहे है जिनमे विशेष तौर पर राजपुरा गली नम्बर एक निवासी जिसका नाम नेपाल कसीनो कांड में भी नाम आया था, जो पिछले लंबे समय से भारत से नेपाल हवाले का काम करता आ रहा है, जिसमे अपनी ब्रांच पीलीकोठी, गोरापड़ाव, बनभूलपुरा समेत राजपुरा में खोली है, यह चंपावत पुलिस के रडार से बाल बाल बचा है। इस सट्टा माफियां समेत केएमओयू समीप होटल स्वामी, जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय के सामने गली शखावत गंज और तिकोनिया स्थिति चौराहे पर चिकन सूप मोमो की दुकान से आईपीएल सट्टे का कारोबार संचालित किया जा रहा है, जिसकी पूरे महकमे को ख़बर तो है पर सबूतों को मिटाने में जुटी अपनी ही टीम कामयाब नही होने दे रही है। क्यो न जांच की जाय इन सट्टा कारोबार में जुटे कारोबारियों और संरक्षण देने वाले पुलिस कर्मियों की संपत्ति की…?

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments