हल्द्वानी :- फांसी के फंदे पर झूलती मिली युवती, इलाज के लिए आई थी चाचा के घर ।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

इलाज के लिए चाचा के पास आयी एक किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली,परिजनों को जैसे ही इस मामले का पता चला तो हड़कंप मच गया ,आनन-फानन में फंदे से उतार कर उसे सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले की निवासी 16 वर्षीय सपना स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से लंबे समय से परेशान थी। बताया जा रहा है कि सपना के पिता रामपाल अक्सर उसकी तबीयत खराब होने से परेशान रहते थे। विगत 26 जून को किसी मंदिर में झाड़-फूंक व इलाज के लिए उसे नैनीताल जिले के हल्द्वानी में रहने वाले छोटे भाई राम उदय के पास भेज दिया। फ्रेंडस कॉलोनी, मुरारजी नगर, धान मिल के पास, बरेली रोड पर चाचा-चाची के साथ किराए के मकान में रह रही थी।

यह भी पढ़ें -   चाफी में अंग्रेजों द्वारा बनाया ये 'झूला पुल' सवा सौ साल है पुराना... बेहतरीन गुणवत्ता के कारण आज भी जस का तस।

पुलिस पूछताछ में चाचा ने बताया कि तीन जुलाई की देर शाम वह किसी काम से बाहर गए थे। उनकी पत्नी भी निर्माणाधीन मकान देखने गई थीं। मकान मालिक ने फोन करके बताया कि सपना ने दरवाजा बंद कर लिया है और बहुत देर से दरवाजा नहीं खोला है। राम उदय भागकर मौके पर पहुंचे।जैसे ही अंदर पहुचे तो सपना दुपट्टे का फंदा बनाकर पंखे से फांसी पर लटकी हुई थी। उन्होंने दुपट्टा काटकर उसे नीचे उतारा। सपना की सांसे चल रही थी। जिसके बाद फौरन नीलकंठ अस्पताल ले गए। जहां सपना उसने दम तोड़ दिया। चाचा ने बताया कि वह मानसिक रूप से अस्वस्थ थी।

यह भी पढ़ें -   कुमाऊँ मंडल विकास निगम के 32 कर्मियों की हुई पदोन्नति
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments