कंगना मामले में राज्यपाल की एंट्री, कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव के प्रमुख सलाहकार को किया तलब

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

मुंबई। फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस पर बीएमसी की ओर से बुलडोजर चलाए जाने के बाद उद्धव ठाकरे सरकार की चारों तरफ आलोचना हो रही है। इस मामले में अब प्रदेश के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की एंट्री हो गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के प्रमुख सलाहकार अजॉय मेहता को तलब किया है। वहीं शिवसेना सांसद का कहना है कि इस कार्रवाई का पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। इसके अलावा मुख्यमंत्री के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने पर कंगना के खिलाफ विक्रोली पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है।
इस मामले में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी सक्रिय हो गए हैं और उन्होंने उद्धव ठाकरे के मुख्य सलाहकार अजॉय मेहता से चर्चा की। राज्यपाल ने कार्रवाई पर नाराजगी जताई है। अजॉय मेहता ने कहा कि वो सीएम उद्धव ठाकरे को जानकारी दे देंगे।वहीं, राज्यपाल कोश्यारी इस विषय पर केंद्र को एक रिपोर्ट देने वाले हैं। गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के सीएम की कुर्सी पर बैठने के बाद से ही गवर्नर कोश्यारी और उनके रिश्ते बेहत तनावपूर्ण रहे हैं।

कंगना रनौत को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से पंगा लेना मंहगा पड़ता हुआ नजर आ रहा है। विक्रोली पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ शिकायत की गई है। शिकायतकर्ता का कहना है कि अभिनेत्री ने मुख्यमंत्री ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया है। इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।
शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, कंगना रनौत के कार्यालय पर कार्रवाई बीएमसी द्वारा की गई है। इसका शिवसेना से कोई संबंध नहीं है। आप इस पर मेयर या बीएमसी आयुक्त से बात कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   प्यार की अजब दास्तान ,चार बच्चों को छोड़ माँ हुई प्रेमी संग फरार...
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments