अब आपको यहाँ मिलेगा रीवर राफ्टिंग के रोमांच का मौका ,KMVN की नई पहल ,800 रुपए से 3000 रुपए तक के पैकेज तैयार

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कुमाऊँ मंडल विकास निगम लिमिटेड लगातार फैसले कर रहा है। साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए समय-समय पर सहासिक पर्यटन की विभिन्न गतिविधियां की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है। नैनीताल जिले में पैराग्लाइडिंग, रॉक क्लाइंबिंग और ट्रैकिंग तो पहले से हो रही थी लेकिन अब इस लिस्ट में युवाओं में सबसे ज्यादा पॉपूलर राफ्टिंग भी शामिल हो गई है। मॉनसून सीजन में कोसी नदी में रॉफ्टिंग की अनुमति शासन से निगम को मिल गई है। वर्तमान में कोसी नदी से कुमेरिया से रामनगर तक 21 किलोमीटर लगभग राफ्टिंग का कार्य संचालित किया जा रहा है । जिसके लिए निगम के पास उक्त गतिविधियों के संचालन हेतु और अवस्थापना संबंधी संशोधन उपकरण कुशल कार्मिक उपलब्ध हैं। सैलानियों के लिए निगम द्वारा पैकेज तैयार किए गए हैं। यह पैकेज 800 रुपए से 3000 रुपए तक हैं।

यह भी पढ़ें -   पहले डकारा फिर नकारा: अगस्त में नैनीताल में भाजपा ने कार्यक्रम कराया, अब ठेकेदार का भुगतान करने पर टाल मटोली

रॉफ्टिंग के लिए कुमेरिया से मोहान 4 किलोमीटर, मोहान से ढिकुली/गर्जिया 07 किलोमीटर, ढिकुली से रामनगर 10 किलोमीटर तक की दूरी है। साहसिक गतिविधियों के आनंद हेतु कोई भी पर्यटक प्रतिभाग कर सकता है। सभी गतिविधियों का संचालन निगम के वरिष्ठ प्रबंधक पर्यटन आवास गृह रामनगर के नियंत्रण में किया जा रहा है। निगम की ओर से सैलानियों की सहायता हेतु नंबर भी जारी किए गए हैं जो इस प्रकार हैं- 8650002527 ( रामनगर), 8650002595 ( ढिकुली), 9758330867 ( मौहान) और 9411579514,9690755949 (ढिकुली कैंप)

यह भी पढ़ें -   रक्षा मंत्री चमोली जिले में सेना के जवानों के साथ मनाएंगे दशहरा…

इस बारे में KMVN के मैनेजिंग डायरेक्टर नरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि निगम पहली बार व्यावसायिक रूप से राफ्टिंग संचालित कर रहा है। नैनीताल जिले में तमाम साहसिक गतिविधियां हो रही थी राफ्टिंग के जुड़ने से पर्यटकों के पास एक और विकल्प हो गया है। आने वाले समय में अन्य गतिविधियों भी संचालित की जायेंगी।वहीं KMVN के जनरल मैनेजर एपी वाजपेयी ने कहा कि मौजूदा समय मे जहां गंगा में राफ्टिंग बन्द है वहीं कॉर्बेट नेशनल पार्क और आस पास आने वाले पर्यटक जंगल सफारी के साथ साथ अब राफ्टिंग का आनन्द भी ले पाएंगे।

यह भी पढ़ें -   वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पुण्यतिथि: पेशावर के इस महानायक को बीच सभा में गांधी जी ने टोका- यह गोरखा हैट पहने मुझे डराने के लिए कौन यहां बैठा है?
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments