मुसीबत के समय भी मौका तलाश रहे लोग ,ओवररेटिंग के चलते एम्बुलेंस चालक हुआ गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

महामारी के इस दौर में भी लोग कालाबाज़ारी करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं ,महामारी के दौर में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मरीजों से नाजायज पैसा वसूल कर फायदा उठा रहे हैं ,ताज़ा मामला हल्द्वानी से सामने आया है जहाँ एंबुलेंस चालक को एसओजी की टीम ने हल्द्वानी से उस समय गिरफ्तार किया जब वह मुखानी क्षेत्र से गौलापार क्षेत्र को जाने के लिए प्रशासन द्वारा निर्धारित रुपए से करीब 1200 अधिक वसूलता हुआ पाया गया एसओजी की इस कार्यवाही से क्षेत्र के एंबुलेंस संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। कोरोना काल में जिला प्रशासन मुनाफाखोरी,जमाखोरी तथा ऐसे अन्य गतिविधियों को नियंत्रण करने के लिए पूरे जनपद में अभियान चलाए हुए हैं तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शिनी भी लगातार जनपद की गतिविधियों में लिप्त लोगों पर नकेल कसने में लगी हुई हैं उन्हें कई दिनों से लगातार सूचनाएं मिल रही थी कि कुछ एंबुलैंस चालक प्रशासन द्वारा तय रेटों से ज्यादा किराया वसूल रहे हैं। ऐसी ही सूचनाओं को पुख्ता करने का जिम्मा उन्होंने एसओजी प्रभारी सुधीर कुमार को सौंपा।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड : बड़ा फैसला ....लंबी जद्दोजहद के बाद देवस्थानम बोर्ड हुआ भंग, अब ये फैसला लेगी सरकार

एसओजी की टीम ने सूचनाओं के आधार पर सेंट्रल हास्प्टिल के बाहर अपना जाल बिछाया। यहां आजादनगर के लाइन नंबर 5 निवासी शाहरूख खान अपनी एंबुलैंस लेकर खड़ा था। उसके पास एसओजी के जवान मरीज का तीमारदार बनकर गया। उसने बताया कि गौलापार शव ले जाना है। इस पर शाहरूख ने उससे दो हजार रुपये किराया देने के लिए कहा। जबकि गौलापार का किराया प्रशासन ने 800 रूपये तय किया है। एसओजी के जवान ने शाहरूख को दो हजार रुपये दिए। इसी बीच एसओजी की ने मोके पर पहुंचकर एंबुलैंस चालक शाहरूख को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया ।

यह भी पढ़ें -   मां का सिर धड़ से अलग करने वाले हत्यारे बेटे को अदालत ने सुनाई फांसी की सजा

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

हमारे इस नंबर 9368692224 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

👉 Hills Mirror के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 Hills Mirror के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 Hills Mirror से Telegram पर जुड़ें

👉 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments